वर्ल्ड कप में जो गांगुली, द्रविड़ और सहवाग नहीं कर पाए, अब धोनी करके दिखाएंगे

मिशन वर्ल्ड कप 2019 को फतह करने के लिए टीम कोहली तैयार है और इस वर्ल्ड कप में कोहली को बतौर कप्तान भारत की झोली में दो वर्ल्ड कप डाल चुके महेंद्र सिंह धोनी का भी साथ मिलेगा. धोनी इस वर्ल्ड कप में एक और कीर्तिमान बनाने के लिए उतरेंगे. टीम इंडिया को टी-20 वर्ल्ड कप और ICC वर्ल्ड कप दिलाने वाले धोनी अब तक तीन वर्ल्ड कप खेल चुके हैं. यह उनका चौथा वर्ल्ड कप होगा.

सबसे ज्यादा वर्ल्ड कप खेलने के मामले में सचिन तेंदुलकर का नाम सबसे ऊपर आता है. सचिन ने सबसे ज्यादा 6 वर्ल्ड कप खेले हैं. अब धोनी चौथा वर्ल्ड कप खेलकर 4 या इससे ज्यादा वर्ल्ड कप खेलने 5वें भारतीय खिलाड़ी बन जाएंगे. इससे पहले जवागल श्रीनाथ, मोहम्मद अजहरुद्दीन और कपिल देव 4-4 वर्ल्ड कप खेल चुके हैं.

वो भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने सबसे ज्यादा वर्ल्ड कप खेला…

1. सचिन तेंदुलकर :  6 वर्ल्ड कप (1992-2011)

2. जवागल श्रीनाथ : 4 वर्ल्ड कप (1992-2003)

3. मोहम्मद अजहरुद्दीन : 4 वर्ल्ड कप (1987-1999)

4. कपिल देव : 4 वर्ल्ड कप (1979-1992)

5. एम एस धोनी  : 3 वर्ल्ड कप (2007-2015) 2019 की टीम में शामिल.

सचिन के नाम सबसे अधिक वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में खेलने का रिकॉर्ड है. सचिन ने 1991 से 2011 तक लगातार 6 वर्ल्ड कप खेल चुके हैं. दुनिया में सबसे अधिक वर्ल्ड कप खेलने के मामले में उनके अलावा पाकिस्तान के जावेद मियांदाद ने ही 6 वर्ल्ड कप खेले हैं. मियांदाद 1975-1996 तक 6 वर्ल्ड कप खेल चुके हैं.

विश्व के वो क्रिकेटर जिन्होंने चार या उससे ज्यादा वर्ल्ड कप खेले हैं…

1.  सचिन तेंदुलकर :  6 वर्ल्ड कप (1992-2011)

2. जावेद मियांदाद : 6 वर्ल्ड कप (1975-1996)

3. रिकी पोंटिंग : 5 वर्ल्ड कप (1996-2011)

4. महेला जयवर्धने : 5 वर्ल्ड कप (1999-2015)

5. मुथैया मुरलीधरन : 5 वर्ल्ड कप (1996-2011)

6. सनथ जयसूर्या : 5 वर्ल्ड कप (1992-2007)

7. वसीम अकरम : 5 वर्ल्ड कप (1987-2003)

8. जैक कैलिस : 5 वर्ल्ड कप (1996-2011)

9. अरविंद डी सिल्वा : 5 वर्ल्ड कप (1987-2003)

10. इंजमाम-उल-हक : 5 वर्ल्ड कप (1992-2007)

11. ब्रायन लारा : 5 वर्ल्ड कप (1992-2007)

12. ग्लेन मैग्रा : 4 वर्ल्ड कप (1996-2007)

13. कुमार संगाकारा : 4 वर्ल्ड कप (2003-2015)

भारतीय क्रिकेट जगत के अन्य दिग्गजों की बात करें तो सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और विरेंद्र सहवाग भी 3-3 वर्ल्ड कप ही खेल पाए हैं. सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने भारत के लिए 1999, 2003 और 2007 खेला है. वहीं, मुल्तान के सुल्तान विरेंद्र सहवाग भी तीन वर्ल्ड कप (2003, 2007, 2011) ही खेल पाए हैं.

वर्ल्ड कप में धोनी का प्रदर्शन

दरअसल, फिटनेस और बेहतर फॉर्म के कारण एमएस धोनी वर्ल्ड कप 2019 के लिए चुनी गई टीम में जगह बनाने में सफलता हासिल की है. धोनी इससे पहले 2007, 2011 और 2015 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का हिस्सा रह चुके हैं. ऐसे में यह उनका चौथा वर्ल्ड कप होगा. पिछले 3 वर्ल्ड कप में धोनी ने कुल 20 मैच खेले हैं, इस दौरान उन्होंने 507 रन बनाए. वर्ल्ड कप में उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 91 रन है, जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ बनाए थे.

धोनी को WC में पहले शतक का इंतजार

वर्ल्ड कप के मैचों में धोनी ने 3 अर्धशतक बनाए हैं, हालांकि वो एक भी शतक लगाने में कामयाब नहीं हो पाए हैं. इस वर्ल्ड कप में उनकी नजर पहला शतक लगाने पर भी रहेगी. वर्ल्ड कप के मैचों में धोनी ने 42.25 की औसत और 91.18 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं.

वर्ल्ड कप के लिए चुनी हुई टीम इंडिया

विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, विजय शंकर, एमस धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पंड्या, मो. शमी, रवींद्र जडेजा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *