नई दिल्‍ली।
डीसीजीआई चीफ वीजी सोमानी ने एक नोटिस जारी कर भारत में चल रहे वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम में तेजी लाने के मकसद से एक बड़ा कदम उठाया है।  डीजीसीआई ने फाइजर और मॉडर्ना द्वारा विकसित की गई कोविड-19 वैक्‍सीन समेत अन्‍य विदेशी वैक्‍सीन को भारत में लाने और इनके इस्‍तेमाल से पहले इनका दोबारा ट्रायल कराने की शर्तों को वापस ले लिया है।

ALSO READ : BREAKING NEWS : छात्र संग शिक्षिका हुई फरार, ट्यूशन के लिए गया, लेकिन नहीं लौटा घर

डीसीजीआई ने अपने नोटिस में कहा है कि वो वैक्‍सीन, जिन्‍हें अमेरिकी एफडीए से आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी होगी, या जिन्‍हें विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने आपात सेवा में इस्‍तेमाल के लिए मंजूर किया है उनका ट्रायल अब नहीं किया जाएगा।
ALSO READ :

इस नोटिस में डीसीजीआई की तरफ से देश में कोरोना संक्रमण के मामलों के मद्देनजर टीकाकरण में तेजी लाने की बात कही गई है। भारत में बढ़ती टीके की मांग के मद्देनजर NEGVAC के सुझावों को मानते हुए यूएस एफडीए, EMA, UK MHRA, PMDA जापान या फिर विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी वाली वैक्‍सीन को ट्रायल से नहीं गुजरना होगा। आपको बता दें कि डीसीजीआई ने ताजा नोटिस में अपने पुराने नोटिस जो 15 अप्रैल को जारी किया था, में कुछ बदलाव किए हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

MURDER- पति की लाश के ऊपर डेढ़ साल तक नहाती रही पत्नी, ऐसे खुला मर्डर का राज

पति और पत्नी का रिश्ता विश्वास पर चलता है। लेकिन यदि इस…

बड़ी ख़बर : अन्ना हजारे ने पीएम को लिखा पत्र… किसानों को लेकर कही ये बड़ी बात

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक…

देश के कई राज्यों में आज से लॉकडाउन, जानें अब तक कहां-कहां लगीं सख्त पाबंदियां

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों को…