अस्पताल में ऑक्सीजन बंद कर देखा गया कितने मरीज मरने वाले हैं? वीडियो वायरल, राहुल गांधी ने की कार्रवाई की मांग
 अस्पताल में ऑक्सीजन बंद कर देखा गया कितने मरीज मरने वाले हैं? वीडियो वायरल, राहुल गांधी ने की कार्रवाई की मांग

 

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा के एक अस्पताल के संचालक का वीडियो वायरल होने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। इसमें संचालक कथित तौर पर ये कहते हुए सुना जा सकता है कि उसने अपने अस्पताल में ऑक्सीजन 5 मिनट के लिए बंद कर एक मॉक ड्रिल किया था। कथित तौर इसकी वजह से 22 कोविड रोगियों की मौत हो गई। इस वीडियो को 26 अप्रैल का बताया जा रहा है, जब यहां कोरोना संक्रमितों की काफी तादाद थी और कई लोगों की जान भी जा रही थी।

 

ALSO READ : प्रदेश के इन जिलों में गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने की संभावना, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट 

 

इस मामले पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने खबर शेयर करते हुए लिखा है, “भाजपा शासन में ऑक्सीजन व मानवता दोनों की भारी कमी है। इस ख़तरनाक अपराध के ज़िम्मेदार सभी लोगों के ख़िलाफ़ तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए। दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिवारजनों को मेरी संवेदनाएँ।”

ALSO READ : कोरोना के नए वेरिएंट ने दी दस्तक, NIV ने कहा- गंभीर लक्षण पैदा कर सकता है ये वेरिएंट

वायरल वीडियो में संचालक बता रहे हैं कि उनके अस्पताल में उस दिन कोरोना के 96 मरीज़ भर्ती थे। ऑक्सीजन की कमी की वजह से उन्होंने तीमारदारों से कहा कि वे अपने मरीजों को कहीं और ले जा सकते हैं, लेकिन कहीं भी ऑक्सीजन नहीं थी इसलिए कोई अपने मरीज़ को शिफ्ट करने को तैयार नहीं हुआ। इसके बाद वे बताते हैं कि मरीज़ ज़्यादा थे और ऑक्सीजन कम तो उन्होंने ऑक्सीजन का मैनेजमेंट कैसे किया।

ALSO READ : सरकारी अस्पताल में डॉक्टर की ड्रेस पहन गार्ड ने की महिला की सर्जरी, तड़प तड़प कर हुई मौत 

संचालक ने कहा: “जो भी पेंडुलम बने रहे कि नहीं जाएंगे,नहीं जाएंगे। मैंने कहा कोई नहीं जा रहा है। दिमाग मत लगाओ छोड़ो। अब वो छांटो जिनकी (ऑक्सीजन) बंद हो सकती है।”

ALSO READ : मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा, राज्य में लाॅकडाउन खत्म, नाइट कर्फ्यू रहेगा जारी, ई-पास की जरूरत नहीं

“एक ट्रायल मार दो। मॉक ड्रिल कर के देख लो कि कौन सा मरेगा,कौन सा नहीं मरेगा ? मॉक ड्रिल करी। सुबह सात बजे मॉक ड्रिल हुई। किसी को पता नहीं है कि मॉक ड्रिल कराई। सुनकर के सबकी, छंट गए 22 मरीज़. नीले पड़ने लगे।””22 मरीज़ छंट गए कि ये मरेंगे।”पांच मिनट के लिए ये मॉक ड्रिल की गई। 74 बचे, फिर 74 से कहा कि अपना सिलेंडर लाओ।”

ALSO READ : 4 निरीक्षक और 9 आरक्षकों के हुए तबादले, देखें आदेश

वहीं आगरा के जिलाधिकारी पी.एन. सिंह और सीएमओ आर.सी. पांडे ने मंगलवार को कहा कि जांच के आदेश दिए गए हैं और इसकी रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

ALSO READ : BABA KA DHABA : बंद करना पड़ा रेस्टोरेंट, बाबा फिर वहीं आए जहाँ से शुरू किया था

सिंह ने मीडिया को बताया, “हम इन मौतों को लेकर सामने आए वीडियो को देखेंगे। अस्पताल में 22 गंभीर मरीज भर्ती थे, लेकिन उनकी मृत्यु का कोई विवरण नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

अमित जोगी का भूख हड़ताल ख़त्म, धर्मंजीत सिंह ने दिया आश्वासन

रायपुर। रुकी भर्ती और नियमितीकरण की मांग को लेकर जनता कांग्रेस के…

बड़ी खबर छत्तीसगढ़ : प्रेमिका की चाहत में पत्नी को जिंदा जलाया… इलाज के दौरान मौत… मरने से पहले पत्नी ने किया यह खुलासा 

  रायपुर। सूरजपुर से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई…

बड़ी ख़बर : पुलिसकर्मी के खिलाफ DGP से शिकायत… महिला ने लागए गंभीर आरोप… जानें क्या है मामला

रायपुर। छत्तीसगढ़ में जेल से छुड़ाने के नाम पर गिरोह काम कर…

BREAKING : चेंबर ऑफ कॉमर्स के चुनावों की तारिख का एलान… जानिए

रायपुर।  छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के चुनाव की तारीखों का…