असम में बाढ़ (Flood In Assam) की स्थिति गुरुवार( thrusday) भी गंभीर बनी रही और बाढ़ के कारण एक बच्चे सहित दो और लोगों की मौत हो गई।राज्य के सात जिलों में बाढ़ से 5.61 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं। एक सरकारी बुलेटिन( government bulletin) में ये जानकारी दी गई।

Read more :   मूसलाधार बारिश से भूस्खलन में 3 की मौत, 94 गांव प्रभावित, 80 घर पूरी तरह हो गए बर्बाद

हुए असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने कहा कि असम( assam)को मौजूदा बाढ़ की स्थिति से निपटने में मदद करने के लिए एसडीआरएफ (राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल) से 324 करोड़ रुपये की अग्रिम राशि जारी करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM modi)और गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) का आभारी हूं। ये राशि प्रभावित नागरिकों के समय पर राहत और पुनर्वास सुनिश्चित करेगा।

बाढ़ प्रभावित 66,836 लोग पांच जिलों में शरण ले रहे

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने गुरुवार को कहा कि बाढ़ प्रभावित 66,836 लोग पांच जिलों में शरण ले रहे हैं. असम में बाढ़ (Flood) से सबसे ज्यादा नौगांव प्रभावित है जहां 3.68 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ की चपेट में आए हैं. वहीं कछार जिले में करीब 1.5 लाख और मोरीगांव में 41,000 से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

बाढ़ और भूस्खलनों से मरने वालों की संख्या बढ़कर 30

गुरुवार ( thrusday)को कामरुप और नौगांव के राहा में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है. इस साल राज्य में बाढ़ और भूस्खलनों से मरने वालों की संख्या बढ़कर 30 हो गई है।