सावधान : बूस्टर डोज के नाम पर रायपुर में सायबर ठगी, नए नए पैंतरे अपना रहे ठग, जानिए 

सावधान : बूस्टर डोज के नाम पर रायपुर में सायबर ठगी, नए नए पैंतरे अपना रहे ठग, जानिए 

रायपुर। साइबर ठग अब बूस्टर डोज के नाम पर ठगी का प्रयास कर रहे हैं। बूस्टर डोज मुफ्त होते ही लोगों के पास ठगों के फोन या मैसेज आने लगे हैं। इसके लिए रजिस्ट्रेशन कराने की बात कहकर लिंक भेजा जा रहा है। ओटीपी की जानकारी देते ही खाते से रकम खाली हो जाएगी। शिकायतें साइबर सेल में की गई हैं। इस पर रायपुर पुलिस ने अलर्ट जारी किया है। लोगों को जागरूक किया जा रहा। स्वास्थ्य विभाग कभी भी ओटीपी नहीं मांगता और बैंक भी उपभोक्ताओं से ओटीपी नहीं मांगते। दरअसल, एक बार फिर कोरोना के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं, जिसका इसका फायदा उठाते हुए खातों में सेंधमारी की तैयारी में ठग लगे हैं।

यह है ठगी का तरीका

साइबर ठग का आपको फोन या मैसेज आएगा। बात होते ही पहला सवाल होगा- क्या आपने कोविड की दोनों डोज ले ली है? हां कहते ही स्वास्थ्य विभाग का हवाला देकर आपसे बूस्टर डोज लेने की अपील करेगा। जब आप हां कहेंगे तो ठग कहेगा कि हम आपका रजिस्ट्रेशन कर देते हैं। इसके लिए पांच या 10 रुपये शुल्क लगने की बात करेगा। शुल्क भुगतान के लिए ठग या तो क्यूआर कोड सेंड करेगा या एटीएम कार्ड की जानकारी मांगेगा। पूरी प्रक्रिया के बाद आपके पास एक ओटीपी नंबर आएगा। ठग आपसे ओटीपी पूछेगा, जिसे बताते ही आपके खाते में जमा राशि निकल जाएगी।

कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन में नहीं मांगी जाती ओटीपी

सरकार द्वारा लोगों को फ्री में टीका लगाया जा रहा है। इससे पहले फ्रंट लाइन वर्कर्स और 60 साल से अधिक उम्र वालों को बूस्टर डोज लगाई जा रही थी। अब उन सभी को लगाई जा रही है, जिन्हें दूसरी डोज लगाए छह माह हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि कोविन एप पर जो भी व्यक्ति रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं, उनसे ओटीपी या अन्य जानकारी नहीं मांगी जाती है और न ही पैसे जमा करने के लिए कहा जाता है।

ऐसे करें ठगी की शिकायत

साइबर शिकायतों के लिए नंबर-1930 है। इसके अलावा मेल से भी शिकायत की जा सकती है। अगर पीड़ित जल्द से जल्द शिकायत करें तो पुलिस ठगी के पैसे फ्रीज कर देती है। 24 से 48 घंटे के बीच ठगी की शिकायत करने पर पैसे फ्रीज करने की संभावना 90 प्रतिशत तक होती है।

रायपुर क्राइम के एडिशनल एसपी अभिषेक माहेश्वरी ने कहा, बूस्टर डोज के नाम पर रजिस्ट्रेशन करवाने का मैसेज लोगों के पास पहुंच रहा है। यह ठगी का नया तरीका है। लोगों को जागरूक रहने की जरूरत है। फोन पर किसी भी तरह की जानकारी उपलब्ध न करवाएं। ठगी का शिकार होने पर तत्काल शिकायत दर्ज करवाएं।