*माइनिंग,मौज है मिश्रा की प्रतिबंध के बाद भी हो रहा अवध उत्खनन कलेक्टर के आदेश पर की गई कारवाही*

मौज है मिश्रा की, शासन के आदेश के बाद भी बारिश में खुदवा रहे रेत
0 नव पदस्थ कलेक्टर ने हड़काया तब की कार्रवाई

बिलासपुर. नवपदस्थ कलेक्टर के आदेश पर आखिरकार माइनिंग टीम को कार्रवाई करनी पड़ी।

माइनिंग टीम ने दोपहर करीब तीन बजे कार्रवाई करते हुये अवैध रेत उत्खनन में लगे 1 पोकलेन और 12 ट्रैक्टर को जब्त किया है। हमेशा सूचना पर टालमटोल करने वाले माइनिंग उपसंचालक को कार्रवाई करनी पड़ी पर हो वो गया जिसके कारण पहले वे कतरा रहे थे। दरअसल चर्चित कांग्रेस नेता के दखल से वे फिर चिंतित दिखे पर आदेश नए कलेक्टर का है, इसलिए वे पहले जैसे मदद नही कर सके। कार्रवाई करनी पड़ गयी। खनिज विभाग अरपा में पानी आने के कारण शासन के आदेश पर जिले के सभी रेत घाट को बंद होना बता रहा था। जबकि शहर से लगे घुटकू लमेर सिन्दरी,लछच्छनपुर समेत कई जगह अरपा से लगातार रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन जारी है। बताया जा रहा कि दोपहर को लन्च के लिए निकले
कलेक्टर सौरभ कुमार अचानक घुटकू पहुचे तो, उन्होने घुटकू और लमेर घाट से रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन होते देखा। कलेक्टर ने तत्काल माइनिंग उपसंचालक दिनेश मिश्र को कॉल करने कहा और उपसंचालक को हड़काया की आखिर बारिश में कैसे रेत का उत्खनन और परिवहन चल रहा। कलेक्टर की नाराजगी पर माइनिंग का पूरा अमला दौड़े भागे घुटकू लमेर घाट पहुचा। बताया जाता है कि इसी बीच विभाग के खबरी ने चर्चित कांग्रेस नेता को चुपके से काल कर दिया। उपसंचालक घिघियाते रहे कि वे कुछ नही कर सकते कलेक्टर के आदेश पर कार्रवाई करने पहुचे है। खबर लगते ही कई गाड़ियां, पोकलेन भाग निकले वही मौके पर पहुची टीम ने

कार्रवाई कर 1 पोकलेन और दर्जन भर से अधिक ट्रैक्टर और अन्य गाड़ियों को जब्त कर निकटतम थाने में खड़ी करने की बात कही है। हर बार की तरह कोई नही पकड़ा गया केवल पोकलेन और गाड़िया मिली चालक, खलासी, मजदूर सब को फरार होना बताया जा रहा है।

ये *हाल है शासन के आदेश का-*
शासन द्वारा हर साल बारिश पूर्व नदियों से रेत उत्खनन पर प्रतिबंध लगाया जाता है। इतना ही नही रेत घाट की अनुमति तक को निरस्त कर दिया जाता है। बावजूद इसके अरपा समेत जिले की नदियों से रेत का अवैध उत्खनन हो रहा। वो तो कलेक्टर के कहने पर मठाधीश अफसरों को कार्रवाई करनी पडी।
उपसंचालक माइनिंग डॉ.डी.के मिश्रा ने कहा कि बारिश में रेत उत्खनन पूर्णतः प्रतिबन्धित है, साथ ही जिले के सभी रेत घाट की अनुमति भी निरस्त कर दी गयी है। कलेक्टर के निर्देश पर कार्रवाई कर मौके पर कार्रवाई कर पोकलेन, ट्रैक्टर और बड़ी गाड़ियों को पकड़ा गया है।