सड़क के बीचो-बीच विशालकाय पेड़ गिरने से वाहनों के थमे थे पहिये, जवानों के सूझबूझ से सुचारू हुआ आवागमन…

सड़क के बीचो-बीच विशालकाय पेड़ गिरने से वाहनों के थमे थे पहिये, जवानों के सूझबूझ से सुचारू हुआ आवागमन…

DANTEWADA DESK :- बस्तर में लगातार हो रहे मूसलाधार बारिश से आम जन जीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त है। इसके साथ ही बस्तर के नदी नाले उफान पर है। बारिश ने दक्षिण बस्तर में अपना कहर बरपा रखा है।

दंतेवाड़ा जिले के बारसूर-नारायणपुर रोड सातधार के नजदीक तेज आंधी तूफान के चलते एक भारी भरकम पेड़ सड़क के बीचों बीच गिर गया। जिससे आवागमन कुछ घंटे तक पूरी तरह से ठप रहा।

जिसके बाद सड़क में पेड़ गिरने की सूचना पर थाना मालेवाही के प्रभारी जनक साहू और बारसूर थाना प्रभारी सुरेंद्र पांबोई ने थाने के अन्य जवानों के साथ पहुंचे। और सड़क के बीच पड़े पेड़ को कड़ी मशक्कत कर काटने लगे। भारी- भरकम पेड़ होने की वजह से पेड़ को मार्ग से नहीं हटाया जा सका।

लेकिन कुछ समय के बाद आवागमन सुचारू रूप से चल सकें इसके लिए जवानों की सूझ बूझ और जेसीबी की सहयाता से पेड़ को हटाया गया और मार्ग को बहाल किया गया। जिसके बाद सड़क के दोनों तरफ वाहनों के थमे पहिये वापस से चलने लगे।

दरअसल बारसूर मार्ग मे सड़क के दोनो तरफ बड़े-बड़े वृक्ष है, और यह वृक्ष आंधी तूफान के चलते कभी भी गिर सकते है और बड़ा हादसा हो सकता है।

इससे पहले भी कुछ महीने पहले बारसूर-पल्ली रोड में कई बड़े बड़े वृक्ष गिर चुके हैं, जिसे मालेवाही थाना के जवान अतिसंवेदनशील क्षेत्र होने के बावजूद अपनी जान जोखिम में डालकर मार्ग बहाल करने पहुंचते हैं। और उन्हें सफलता मिलती है।