बस्तर संभाग के शिक्षा विभाग में पदस्थ सफाई कर्मी मिले ,मुक्ति मोर्चा व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के नेता नवनीत चांद से, रखी अपनी समस्याएं,समाधान हेतु सरकार के विरुद्ध संघर्ष साथ देने की अपील – ओम मरकाम

जगदलपुर। राज्य सरकार की वादाखिलाफी से परेशान बस्तर संभाग के शिक्षा विभाग में पदस्थ सफाई कर्मियों के पदाधिकारियों ने बस्तर अधिकार मुक्ति मोर्चा के मुख्य संयोजक एवं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के

बस्तर जिला अध्यक्ष नवनीत चांद से मुलाकात कर अपनी समस्याएं बता समाधान हेतु पहल करने की मांग रखी, तो  वही समस्याओं को सुनने के पश्चात मुक्ति मोर्चा के मुख्य संयोजक एवं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के बस्तर जिला अध्यक्ष नवनीत चांद ने राज्य सरकार व बस्तर के क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि, विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस सरकार के विधायक जनता के बीच कर्मचारियों के बीच जाकर उनसे बड़े-बड़े वादे किए थे।

परंतु आज सरकार के 3 साल बीत जाने के बाद भी गंगाजल लेकर कांग्रेस के घोषणा पत्र को निभाने की बात करने वाले कांग्रेस की सरकार के मंत्री व पदाधिकारी आज अपने वादे से मुकर रहे हैं।

यह बेहद शर्म की बात है इसकी जितनी घोर निंदा की जाए उतनी कम है। तो वहीं उन्होंने कहा बस्तर अनुसूचित जनजाति क्षेत्र है जहां सविधान की पांचवी अनुसूची लागू होती है ऐसे में बस्तर के समस्त दैनिक वेतन कर्मियों खास तौर पर सफाई कर्मियों का यह मौलिक अधिकार है। कि उन्हें श्रमिक कानून के तहत न्यूनतम वेतनमान जो श्रम विभाग के द्वारा तय किया गया है। उन्हें मिलना चाहिए, परंतु शर्म की बात है।

बस्तर में बेहद जरूरी सेवा प्रदाय करने वाले इन सफाई कर्मियों को अपनी छोटी सी मांग को पूरा करने के लिए वर्षों से सड़कों पर संघर्ष करना पड़ रहा है। मेरा बस्तर संभाग के सभी सरपंच सचिव व ग्राम पंचायत के सम्मानीय निवासियों से अपील है। कि, ग्राम सभा में इन सफाई कर्मियों की न्यूनतम वेतनमान की मांग को रखकर सरकार को निर्देशित करें कि वह ग्राम सभा के लिए गए फैसले को जनता के हित में अमल करें।

इस दौरान बस्तर अधिकार मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष भरत कश्यप जिला महासचिव श्री गजभिए शहर युवा मोर्चा अध्यक्ष किशन सरकार शहर सचिव कुंदन पटेल बस्तर जिला सोशल मीडिया प्रभारी एवं मरकाम उपस्थित थे।