Sawan Somwar 2022 : सावन का दूसरा सोमवार आज, जानें भगवान शिव के जलाभिषेक का महत्व

आज सावन( sawan) का दूसरा सोमवार( monday) है। सावन के दूसरे सोमवार पर बहुत ही अच्छा शुभ संयोग बन हुआ है। आज सावन सोमवार( monday) के साथ प्रदोष व्रत भी है। सावन सोमवार के दिन प्रदोष व्रत होने से भगवान शिव की पूजा,उपासना और अभिषेक का महत्व काफी बढ़ गया है।

Read more : Sawan Somvar 2022: आज है सावन का पहला सोमवार, सत्य शिव हैं, अनंत शिव हैं, शिव की लीला अपरंपार है, आज करें ये उपाय

पहला सर्वार्थ सिद्धि योग का शुभ मुहूर्त आज यानी 25 जुलाई को सुबह 5 बजकर 38 मिनट से शुरू होकर 26 जुलाई को दोपहर 01 बजकर 14 मिनट तक रहेगा। इसके अलावा दूसरा शुभ योग, अमृत सिद्धि योग का निर्माण 25 जुलाई को सुबह से शुरू हो जाएगा। वहीं आज के दिन ही तीसरा शुभ योग धु्व्र योग 24 जुलाई को दोपहर 2 बजकर 01 मिनट से शुरू हो चुका है जो 25 जुलाई की दोपहर 3 बजकर 3 मिनट तक रहेगा।

भगवान शिव ( god shiv)की कुछ सबसे प्रिय चीजें चढ़ाना न भूलें

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सावन सोमवार पर भगवान शिव की कुछ सबसे प्रिय चीजें चढ़ाना न भूलें।दूध, दही, घी, सफेद आंक का फूल, गंगाजल, मदार के फूल, बेलपत्र,चंदन, शहद और शक्कर।

ऐसे करें पूजा ( worship) 

सावन सोम प्रदोष व्रत के दिन भगवान गणेश की सबसे पहले पूजा करें फिर इसके बाद भगवान शिव, माता पार्वती और नंदी जी की पूजा अर्चना करें।

– इसके बाद भगवान शिव का जल से अभिषेक करें और पूजा विधि विधान के साथ आरंभ करते हुए सभी तरह की पूजा सामग्री को अर्पित करें।

– इसके बाद भगवान शिव को धूप-दीप जलाकर भगवान शिव के मंत्र, कथा और शिव चालीसा का पाठ करें।

– पूजा के अंत में भगवान शिव की आरती करें और आशीर्वाद प्राप्त करें।