गुजरात में जहरीली शराब का कहर : अब तक 29 लोगों की मौत, 8 गांव में पसरा मातम, शराब की जगह पीला दिया मेथेनॉल, 14 गिरफ्तार

गुजरात( gujarat) के बोटाद जिले में जहरीली शराब पीने से अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 30 की हालत गंभीर है। सोमवार को इस मामले में 10 लोगों की मौत( death) हुई थी। वहीं 19 लोगों की आज इलाज के दौरान मौत हो गई। इस केस में मुख्य आरोपी समेत 14 लोगों को गिरफ्तार( arrest) किया गया।

Read more : GUJARAT HOOCH TRAGEDY : जहरीली शराब पीने से 19 की मौत, 40 से ज्यादा अस्पताल में भर्ती

बता दे गुजरात( gujarat) में 1960 से ही शराबबंदी लागू है। 2017 में गुजरात सरकार ने शराबबंदी से जुड़े कानून को और सख्त कर दिया था। इसके तहत अगर कोई गैरकानूनी तरीके से शरा( wine) की बिक्री करता है, तो उसे 10 साल कैद और 5 लाख रुपए जुर्माने की सजा हो सकती है।

शराब की जगह वहां लोगों को मेथेनॉल( methanol) केमिकल दिया गया

शुरुआती जांच में पता चला है कि सोमवार ( monda y)को बरवाला के रोजिद गांव में एक शराब भट्टी पर 8 गांव के लोग शराब पीने आए थे। शराब की जगह वहां लोगों को मेथेनॉल केमिकल दिया गया था। यह मेथेनॉल( methanol) अहमदाबाद से लाया गया था।

रोजिंद गांव में 9 लोगों के शव का अंतिम संस्कार किया गया

सबसे ज्यादा रोजिंद गांव में 9 लोगों के शव का अंतिम संस्कार किया गया है। जहरीली शराब से रोजिंद के अलावा रेस, चौकड़ी, धंधुका, नभोई, रणपरी, पोलरपुर और चौरागा में मातम है।