धनोरा स्कूल के छात्र-छात्राओं को पढ़ाया गया यातायात नियमों का पाठ

JAGDALPUR DESK :- साहू के नेतृत्व में एवं यातायात प्रभारी के ग्रेट हाल बीजापुर में यातायात जागरूकता अभियान का शुभारंम किया गया, जिसके परिप्रेक्ष्य में यातायात जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया

जिसमें उप पुलिस अधीक्षक यातायात विनीत साहू के द्वारा बताया गया कि जानकारी के अभाव में दुर्घटनाओं घटित होती है इन दुर्घटनाओं से बचाव हेतु चौराहा पार करने का नियम, ट्रेफिक सिग्नल लाइट, हाथों के संकेतों के माध्यम से यातायात व्यवस्था का संचालन, हेलमेट और सीट बेल्ट की अनिवार्यता, दो पहिया वाहन में तीन सवारी ना चलाना,

वाहन चलाते समय मादक द्रव्यों का सेवन ना करना, तेज गति एवं लापरवाही पूर्वक वाहन ना चलाना, प्रेशर हार्न का उपयोग ना करना, वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का उपयोग नहीं करना, जेब्रा क्रॉसिग, गुड सेमेरिटन, लायसेंस बनवाने के नियम, दुर्घटना के कारण व दुर्घटना घटित होने पर चालक के कर्तव्य, सड़क पर वाहन चलाने की सही तरीका, मोटर व्हीकल एक्ट की विभिन्न धाराओं व उसमें निर्धारित जुर्माने की राशि के साथ यातायात के अनिवार्य, चेतावनी व सूचनात्मक संकेतों का ज्ञान होना चाहिये ।

जिससे देश का कोई भी नागरिक, चाहे वह किसी भी उम्र का हो यदि वह सड़क का प्रयोग करता है तो उसे यातायात नियमों की जानकारी ही नहीं अपितु नियमों का पालन करना चाहिए ।

छ.ग. में प्रतिवर्ष लगभग 14,500 सड़क दुर्घटना होती है जिसमें से मृत्यु 4,500 लोग मारे जाते हैं एवं 13,000 लोग गंभीर रूप से घायल होते है, उसी प्रकार जिला बीजापुर में जनवरी से जून 2022 तक 64 सड़क दुर्घटना हुई है

जिसमें 30 लोगो का मृत्यु हुआ है एवं 88 लोग गंभीर रूप से घायल हुई है। वर्ष 2021 की अपेक्षा मृत्यु दर में 20 प्रतिशत की वृध्दि हुई जो चिन्ताजनक है

व अधिकांश सड़क दुर्घटनाओं दोपहर 12ः00 बजे से रात्रि 21ः00 बजे के मध्य घटित हो रही है। जिले में अधिकांश सड़क दुर्घटनाओं दोपहिया वाहन से हो रही है ।

इसका मेन कारण है तेज रफ्तार एवं शराब पीकर वाहन चलाने से होता है, सड़क पर अगले वाहन से सुरक्षित दूरी बनाकर चले दोपहिया वाहन चलाते समय मोबाईल फोन का उपयोग नहीं करने बताकर यातायात नियमों का पालन करने का अपील की गई ।