विद्यार्थियों के प्रेरणास्रोत पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की मनाई गई सातवीं पुण्यतिथि


रायपुर। कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा आज भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम का पुण्यतिथि मनाई गई। इस दौरान विश्वविद्यालय के कुलपति बलदेव भाई शर्मा, विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ आशुतोष मंडावी, जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष शाहिद अली,पत्रकारिता विभाग के विभागाध्यक्ष पंकज नयन पांडे मुख्य रूप से उपस्थित रहे। साथ ही विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर शैलेंद्र खण्डेलवाल ने कार्यक्रम का संयोजन किया|

कार्यक्रम “कलाम को सलाम” विषय पर आयोजित की गई| कार्यक्रम की शुरूवात कुलपति ने डॉ एपीजे अब्दुल कलाम की छाया चित्र पर माल्यार्पण कर व श्रद्धांजलि अर्पित कर की| इस अवसर पर डॉ. अब्दुल कलाम के जीवन के पर आधारित डॉक्यूमेंट्री प्रदर्शित की गई। देश को रक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में सशक्त बनाने व राष्ट्रपति रहते हुए उनके किए गए कार्यों के बारे में प्रकाश भी डाला गया।

साथ ही कुलपति ने छात्रों को संबोधित करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि, “सभी छात्रों को कलाम जी से सबक सीखनी चाहिए। उनके जीवन से जुड़ी बातों को जानने और समझने की आवश्यकता है।” इस दौरान देशभर में मनाए जा रहे आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सभी स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में अवगत भी कराया। इस कार्यक्रम के माध्यम से विश्वविद्यालय द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव का शुभारंभ किया गया।

विज्ञापन एवं जनसंपर्क विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. आशुतोष मंडावी ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि,” डॉक्टर अब्दुल कलाम का व्यक्तित्व इतना विशालकाय है कि उसे शब्दों में वर्णित नहीं किया जा सकता। वहीं डॉक्टर अब्दुल कलाम की किताब “विजन 2020” के कुछ प्रसंगों की चर्चा करते हुए कहा की आज भारत सूचना और औद्योगिक क्षेत्र में आगे बढ़ने की बात कही| कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के समस्त कर्मचारी अधिकारी व विद्यार्थीगण बड़ी संख्या में उपस्थित रहे|