गरियाबंद नगर की तस्वीर और तकदीर बदलने की प्रशासनिक कवायद शुरू, कलेक्टर और नपा अध्यक्ष निकले शहर निरक्षण पर

गरियाबंद – जिला मुख्यालय का गरियाबंद नगर वर्षों से अव्यवस्थित है। नगर के बस स्टैंड और सप्ताहिक बाजार में यातायात की समस्या व्याप्त है। जिला बनने के बाद से ही लगातार बस स्टैंड और सप्ताहिक बाजार स्वच्छ सुव्यवस्थित करने की मांग की जा रही है। इसे लेकर जिले के नवपदस्थ कलेक्टर प्रभात मालिक ने गंभीरता दिखाई है। कलेक्टर के संज्ञान में आने के बाद अब गरियाबंद नगर की तस्वीर और तकदीर बदलने की प्रशासनिक कवायत शुरू हो गई। नगर में व्याप्त समस्या को लेकर बुधवार को एक बार फिर कलेक्टर प्रभात मलिक ने गरियाबंद नगर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने गरियाबंद को स्वच्छ सुंदर और सुव्यवस्थित बनाने के लिए नगर में संभावनाएं तलाशी।

कलेक्टर ने नगर में स्थित मुक्तिधाम, द्व्य गार्डन, सिविल लाइन मैदान, बस स्टैंड और छिंद तालाब का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ नगर पालिका अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार मेमन अनुभाग अधिकारी विश्वजीत यादव भी मौजूद थे। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने अपने आवश्यक सुझाव देने के साथ ही व्यवस्था सुधारने के निर्देश भी दिए।

गौरतलब है कि नगर में वर्षों से बस स्टैंड सप्ताहिक बाजार में यातायात की समस्या व्याप्त। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने इसके सुधार के लिए गम्भीरता दिखाई। यातायात व्यवस्था सुधारने उन्होंने बस स्टैंड में मार्किंग करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि बसों के आने जाने और रुकने के लिए जगह चिन्हांकित करे। कहीं भी अव्यवस्थित तरीके से वाहन खड़े ना हो। इसके साथ कलेक्टर ने बस स्टैंड के बाहर रखने वाले ठेला टपरी दुकानों को पालिका के कॉम्प्लेक्स के भीतर शिफ्ट करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन दुकानों से और यात्री बसी से प्रतिदिन किराया लिया जाए। इस राशि का उपयोग यहां की साफ-सफाई और अन्य व्यवस्था के लिए किया जाएगा। इसके अलावा कलेक्टर ने नगर में लगने वाले सप्ताहिक बाजार को भी कृषि मंडी में शिफ्ट करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हर सप्ताह बाहर से आने वाले व्यवसायियों को अलग से बाजार के लिए जगह दी जाए। नगर के भीतर वाले बाजार में केवल स्थाई व्यवसायी ही दुकान लगान दी जाए।

इसके पहले कलेक्टर ने नगर के मुक्तिधाम और समीप के गार्डन का भी निरीक्षण किया। यहां स्वीकृति कार्य की जानकारी लेते हुए मुक्तिधाम में पाथवे बनाने, शेड लगाने, गार्डनिंग करने सहित सुधार के कई निर्देश दिए। गार्डन के निरीक्षण के दौरान भी उन्होंने आवश्यक सुझाव दिए। इसके बाद कलेक्टर ने अस्थाई मटन मार्केट और सिविल लाइन का निरीक्षण किया। नपा अध्यक्ष से चर्चा कर उन्होनें मटन मार्केट शिफ्ट होने के बाद यहां थोक मार्केट के लिए जगह आरक्षित करने का निर्णय लिया। कहा की इसे पालिका व्यापारियों को विक्रय कर सकेगी। सिविल लाइन के मैदान को स्पोर्ट्स के अनुरूप तैयार करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि महिला जिम के निर्माणाधीन भवन के अलावा यहां के अन्य भवन को बास्केट बॉल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस व अन्य खेल के अनुरूप तैयार करें। मैदान को गार्डनिंग करके स्वच्छ और सुंदर बनाएं। इस स्थान को नगर के भीतर खेल क्रियाओं के लिए बेहतर ढंग से तैयार किया जाए जिससे कि आने वाले समय में यहां के बच्चों और युवाओं को इसका लाभ मिल सके।

इसके बाद कलेक्टर छिंद तालाब के निरीक्षण के लिए पहुंचे। कलेक्टर ने यहां स्थित दोनों तालाब का निरीक्षण कर इसकी वस्तुस्थिति से अवगत हुए। तलाब की साफ सफाई के लिए वीड कटर मशीन से सफाई करने के सुझाव दिए। कलेक्टर ने कहा की तालाब के आसपास के मकानों (बिना पट्टे वाले) को खाली कराया जाए, उन्हें व्यवस्थापन के तहत दूसरी जगह जमीन, शासकीय पट्टा और योजना के तहत ढाई लाख रुपए की सरकारी राशि उपलब्ध कराने के सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि जो लोग इसमें सहमति प्रदान करते हैं उनके प्रकरण जल्द ही तैयार किया जाए। इसके अलावा कलेक्टर ने साईं मंदिर गार्डन कभी निरीक्षण किया कलेक्टर ने यहां गार्डन के किनारे चौपाटी लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गार्डन में मनोरंजन के साधन उपलब्ध होंगे साथ ही चौपाटी रखने से यहां की रौनक बढ़ जाएगी। इसके साथ दो हाई मास्क लाइट लगाने की घोषणा भी की।

इस अवसर पर कलेक्टर प्रभात मालिक ने कहा कि नगर की समस्याओं का जल्द निराकरण किया जाएगा। नगर को स्वच्छ सुंदर और सुव्यवस्थित करने हर संभव प्रयास किया जाएगा।