स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में मनाया गया हरेली त्यौहार

 

छत्तीसगढ़ अपनी लोक संस्कृति और सभ्यता के नाम से पूरे देश-विदेश में विख्यात है, जैसे यहां की लोक संस्कृति और सभ्यता है, वैसे ही यहां के लोग सरल स्वभाव के होते हैं, जहाँ छत्तीसगढ़ में हर छोटी से छोटी पर्व को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है. लोग जात-पात छोटे-बड़े अमीरी-गरीबी की भेद भावना को भूलकर छत्तीसगढ़ लोक संस्कृति सभ्यता के अनुसार सभी त्यौहारों को बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं. इसी कड़ी मे आज नगपुरा के स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में हरेली त्यौहार को काफी धूमधाम से मनाया गया. जहां बच्चों के साथ-साथ शिक्षकों ने भी गेड़ी चढ़ा और पूजा पाठ कर हरेली त्यौहार को मनाया.

आज छत्तीसगढ़ का प्रथम त्यौहार हरियाली का प्रतीक हरेली को नगपुरा के स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया. जिसमें ना सिर्फ छात्र छात्राओं ने बल्कि शिक्षकों ने भी बढ़-चढ़कर इस त्यौहार को अपने स्कूल के प्रांगण में मनाया, और उसके पश्चात मिड डे मील का आयोजन किया गया.