Commonwealth Games 2022 : CWG में भारत को मिला पहला पदक, वेटलिफ्टर संकेत महादेव ने सिल्वर दिलाकर खोला खाता, CGOA महासचिव होरा ने दी बधाई 

 

Commonwealth Games 2022 : CWG में भारत को मिला पहला पदक, वेटलिफ्टर संकेत महादेव ने सिल्वर दिलाकर खोला खाता, CGOA महासचिव होरा ने दी बधाई 

ग्रैंड न्यूज़ डेस्क। Commonwealth Games 2022 भारत को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में पहला पदक मिल गया है। भारत को पहला पदक वेटलिफ्टर संकेत महादेव सरगर (Sanket Mahadev Sargar) ने दिलाया। संकेत ने 55 किलोग्राम वर्ग के फाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए 12 वेटलिफ्टर्स के बीच दूसरा स्थान हासिल करके भारत की झोली में सिल्वर मेडल डाल दिया। संकेत ने पुरे विश्व में भारत का नाम बढ़ाया है, इस गौरंकित क्षणों में CGOA महासचिव गुरुचरण सिंह होरा ने वेटलिफ्टर संकेत महादेव को बधाई दी है।

 

 

स्नैच राउंड के बाद पहले स्थान पर रहे संकेत

नेशनल और कॉमनवेल्थ रिकॉर्ड होल्ड संकेत सरवर ने बर्मिंघम के NEC हॉल 1 में अपने हुनर और साहस का शानदार प्रदर्शन करते हुए स्नैच राउंड में 113 किलो वजन उठाकर पहला स्थान हासिल किया। उन्होंने इस राउंड के पहले प्रयास में 107 किलो वजन उठाया, दूसरे प्रयास में 111 किलो तक पहुंचे और तीसरे प्रयास में 113 किलो वजन उठाकर पहले स्थान पर रहे। दूसरे स्थान पर 107 किलो वजन उठाकर मलेशिया के मोहम्मद बिन कासदान रहे जबकि श्रीलंका के डिलांका इशुरू कुमारा 105 किलो वजन के साथ स्नैच राउंड के बाद तीसरे स्थान पर रहे।

 

क्लीन एंड जर्क के बाद संकेत को मिला सिल्वर मेडल

256 किलो वजन उठाकर कॉमनवेल्थ रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले 21 साल के संकेत ने क्लीन एंड जर्क में 135 किलो वजन उठाया। हालांकि दूसरे प्रयास में उन्होंने 139 किलो वजन उठाने की कोशिश की लेकिन दाहिनी कोहनी के मुड़ जाने के कारण वे फाउल कर बैठे। चोटिल होने के बावजूद संकेत तीसरे प्रयास के लिए आए लेकिन इंजरी के कारण सफल नहीं हो सके। भारतीय वेटलिफ्टर ने 55 किलो वर्ग में कुल 248 किलो वजन उठाकर सिल्वर मेडल अपने नाम किया। मेडल सेरेमनी के बाद सिल्वर मेडलिस्ट संकेत ने अपने पदक को देश के वीर सैनिकों के नाम किया।

 

मलेशिया के वेटलिफ्टर को मिला गोल्ड मेडल

वहीं स्नैच राउंड में दूसरे स्थान पर रहे मलेशिया के वेटलिफ्टर ने क्लीन एंड जर्क के तीसरे प्रयास में 142 किलो वजन उठाकर फाइनल रिजल्ट में पहले स्थान पर कब्जा कर लिया। मलेशियाई एथलीट ने संकेत से एक किलो ज्यादा यानी कुल 249 किलो वजन उठाया।