Sprite Green Bottle : क्या 1 अगस्त से बदल जाएगा स्प्राइट के बोतल का रंग? 60 साल बाद कंपनी ने लिया फैसला, बताई ये वजह

स्प्राइट (Sprite) अब हरे रंग ( green bottle)की बोतल में नहीं मिलेगी। स्प्राइट बनाने वाली अमेरिकी कंपनी कोका कोला ने 60 साल बाद इस लोकप्रिय कोल्ड ड्रिंक( cold drink ) को हरे रंग की जगह सफेद या ट्रांसपेरेंट बोतलों में बेचने का फैसला किया है।

Read more : Mukhyamantri Parishad meeting: भाजपा शासित राज्यों के सीएम की दिल्ली में बैठक, पीएम मोदी पहुंचे, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

बता दे कोका कोला( coco cola) ने 27 जुलाई को जारी अपने एक बयान में घोषणा की है कि वह 1 अगस्त से स्प्राइट( sprite) को हरे रंग (green)की बोतल में नहीं बेचेगी।कंपनी का कहना है कि उसका ये कदम पर्यावरण के प्रति ज्यादा जिम्मेदार बनने के उसके प्रयासों का हिस्सा है।

ये रंग होंगे शामिल ( included) 

कोका कोला न केवल स्प्राइट ( sprite) कंपनी के उन अन्य ड्रिंकिंग प्रोडक्ट्स( products) को भी क्लियर बोतल में पेश करेगी, जो हरे रंग की बोतल में आते हैं। इनमें फ्रेसका, सीग्राम्स और मेलो यलो शामिल हैं।

पॉपुलर ड्रिंक स्प्राइट को अमेरिका में 1961 में लॉन्च( launch) किया

पॉपुलर ड्रिंक स्प्राइट को अमेरिका में 1961 में लॉन्च( launch) किया गया था। जल्द ही अपने सिग्नेचर ग्रीन पैकेजिंग की वजह से ये हर घर में पहचाना जाने वाला ब्रैंड( brand) बन गया।अब स्प्राइट दुनिया में तीसरी सबसे ज्यादा और कोक के बाद कोका कोला का दूसरा सबसे ज्यादा बिकने वाली सॉफ्ट ड्रिंक है।