22 अगस्त से कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन की अनिश्चितकालीन आंदोलन की घोषणा

OFFICE DESK : फेडरेशन से संबंध (4:50लाख)कर्मचारी – अधिकारी 22 अगस्त से चले जायेंगे अनिश्चितकालीन आंदोलन में

कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा पांच दिवसीय निश्चितकालीन आंदोलन के बाद भी छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा केंद्र के समान देय तिथि से 34% महंगाई भत्ता

तथा सातवें वेतनमान पर गृह भाड़ा भत्ता की 2 सूत्री मांगों पर फेडरेशन के साथ कोई वार्ता न करते हुए उल्टे हड़ताली कर्मचारियों, अधिकारियों पर दमनात्मक कार्यवाही किए

जाने के आदेश से आक्रोशित कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा तत्काल 31 जुलाई रविवार को प्रातः 11:00 बजे से रेंजर एसोसिएशन हॉल, वन आवासीय परिसर ,पंडरी ,रायपुर में बैठक आयोजित की गई ,

जिसमें फेडरेशन से जुड़े 80 से अधिक संगठनों के प्रांताध्यक्ष, छत्तीसगढ़ प्रांत के समस्त पांच संभागीय संयोजक ,संभाग प्रभारी तथा 31 जिला के जिला संयोजको की बैठक रखी गई थी! जिसमें आगे आंदोलन को आक्रामक करते हुए रणनीति बनाई गई !

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि छत्तीसगढ़ सरकार को फेडरेशन से वार्ता करने का समय देते हुए आगामी 22 अगस्त से पूरे प्रदेश के 4.50 लाख कर्मचारी अधिकारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे !

कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन से संबद्ध सर्व संगठन की प्रांतीय बैठक में प्रांतीय संयोजक कमल वर्मा ने इसकी विधिवत घोषणा की !उपरोक्त बैठक में कोंडागांव जिले के कर्मचारी

अधिकारी फेडरेशन के जिला संयोजक नीलकंठ शार्दूल, सह संयोजक, लोकेश गायकवाड एवं बस्तर संभाग पर्यवेक्षक केदार जैन के साथ विभिन्न संगठनों के जिलाध्यक्ष उपस्थित रहे ।