National Herald Case: ईडी की टीम फिर से नेशनल हेराल्ड ऑफिस पहुंची, किसी को अंदर जाने की इजाजत नहीं

National Herald Case: ईडी की टीम फिर से नेशनल हेराल्ड ऑफिस पहुंची, किसी को अंदर जाने की इजाजत नहीं
National Herald Case: ईडी की टीम फिर से नेशनल हेराल्ड ऑफिस पहुंची, किसी को अंदर जाने की इजाजत नहीं

National Herald Case: ईडी की टीम फिर से नेशनल हेराल्ड के ऑफिस पहुंची हैं. ईडी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) को दो ईमेल किए थे और यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड में मौजूद रहने को कहा था. मल्लिकार्जुन खड़गे की मौजूदगी में ही तलाशी होगी. फिलहाल हेराल्ड हाउस ऑफिस (Herald House) में किसी को भी घुसने नहीं दिया जा रहा. केवल पासपोर्ट ऑफिस में लोगों की अपॉइंटमेंट पर्ची देख कर अंदर जाने दिया जा रहा है.

सूत्रों के मुताबिक हेराल्ड हाउस में ईडी को शेयर पैटर्न दस्तावेजों की तलाश है. कौन-कौन शेयर होल्डर है, होने वाली कमाई का कोई विदेशी लिंक? 90 करोड़ के लोन से जुड़े दस्तावेज, ईडी इन सब चीजों की तलाश कर रही है. इससे पहले ईडी ने मल्लिकार्जुन खड़गे को गुरुवार दोपहर 12.30 बजे यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड के हेराल्ड हाउस में मौजूद रहने को कहा था. खड़गे को समन इसलिए दिया गया क्योंकि वह यंग इंडियन के प्रमुख पदाधिकारी हैं.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने जताई नाराजगी

इसको लेकर मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज राज्यसभा में कहा कि मुझे ईडी का समन मिला, उन्होंने मुझे दोपहर 12.30 बजे बुलाया. मैं कानून का पालन करना चाहता हूं, लेकिन जब संसद सत्र चल रहा हो तो क्या उनके लिए समन करना सही है? क्या पुलिस के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी के आवासों का घेराव करना सही है? हम डरेंगे नहीं, हम लड़ेंगे।

यंग इंडियन ऑफिस किया था सील

बता दें कि, प्रवर्तन निदेशालय ने मंगलवार रात को नई दिल्ली में कांग्रेस के स्वामित्व वाले नेशनल हेराल्ड अखबार के कार्यालय में छापेमारी की थी. जिसके बाद यंग इंडियन के ऑफिस को सील कर दिया था. यंग इंडियन नेशनल हेराल्ड अखबार का मालिक है. ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में एक दर्जन स्थानों पर छापे मारे थे.

कांग्रेस नेताओं से हुई है पूछताछ

ईडी ने इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), उनके सांसद बेटे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं से पूछताछ की है. सोनिया गांधी से पिछले महीने तीन राउंड में 11 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई. वहीं राहुल गांधी से जून में पांच दिनों में 50 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई. पूछताछ के कारण देश भर में कांग्रेस (Congress) सदस्यों द्वारा विरोध प्रदर्शन किए गए, जिसमें वरिष्ठ नेता ईडी (ED) की कार्रवाई की निंदा करने के लिए सड़कों पर उतर आए थे.