जगदीप धनखड़ होंगे देश के नए उपराष्ट्रपति, मार्गरेट अल्वा को शिकस्‍त दी, पीएम मोदी समेत दिग्‍गजों ने दी बधाई

नई दिल्‍ली। पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ देश के नए उपराष्‍ट्रपति होंगे। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक जगदीप धनखड़ को कुल 725 मतों में से 528 मत मिले। उन्‍होंने 346 मतों से विपक्ष की उम्‍मीदवार मार्गरेट अल्‍वा को शिकस्‍त दी। लोकसभा महासचिव उत्पल के. सिंह ने चुनाव नतीजों की जानकारी देते हुए कहा कि मार्गरेट अल्वा को चुनाव में 182 वोट मिले। 15 मतों को अवैध करार दिया गया।प्रधानमंत्री मोदी ने नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से मुलाकत कर उन्‍हें बधाई दी।

धनखड़ की जीत की घोषणा के बाद बधाइयों का तांता लग गया। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के आवास पर पहुंचकर उनसे मुलाकात की। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और प्रह्लाद जोशी ने भी इस अवसर पर उन्हें बधाई दी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी जगदीप धनखड़ के आवास पर पहुंचे और उन्‍हें बधाई दी।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि किसान पुत्र जगदीप धनखड़ का भारत के उपराष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित होना पूरे देश के लिए हर्ष का विषय है। धनखड़ जी अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में निरंतर जनता से जुड़े रहे हैं। जमीनी मुद्दों की बारीकी समझ एवं उनके अनुभव का उच्च सदन को निश्चित रूप से लाभ मिलेगा।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने जगदीप धनखड़ को भारत के 14वें उपराष्ट्रपति बनने पर बधाई दी। यही नहीं पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष ने संयुक्त-विपक्ष की भावना का प्रतिनिधित्व करने के लिए विपक्षी उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा को भी धन्यवाद दिया।

लोकसभा महासचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि राज्यसभा के निर्वाचित और मनोनीत सदस्यों और लोकसभा के निर्वाचित सदस्यों वाले 780 मतदाताओं में से 725 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस चुनाव में 92.94 फीसद मतदान दर्ज किया गया।

देश के उपराष्ट्रपति पद (Vice President Election 2022) के लिए शनिवार को मतदान संपन्‍न हो गया। प्रधानमंत्री मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कई केंद्रीय मंत्रियों और विभिन्न दलों के सांसदों ने मतदान किया। मतदान पूर्वाह्न 10 बजे शुरू हुआ और शाम पांच बजे तक चला।

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सबसे पहले वोट डालने वाले सांसदों में शामिल रहे जबकि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व्हीलचेयर पर संसद भवन पहुंचे और मतदान किया। सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने दोपहर में मतदान किया। कोविड-19 से जूझ रहे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य अभिषेक मनु सिंघवी पीपीई किट पहनकर संसद भवन पहुंचे और मतदान किया।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश समेत मुख्य विपक्षी दल के तमाम सांसदों ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए ने पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ (71) को प्रत्याशी के तौर पर चुनाव मैदान में उतारा था जबकि विपक्ष की ओर से मार्गरेट अल्वा (80) को संयुक्त उम्मीदवार घोषित किया गया था।

भाजपा के पास लोकसभा में पूर्ण बहुमत है और राज्यसभा में भी उसके 91 सदस्य हैं… इस वजह से पहले ही धनखड़ का पलड़ा भारी नजर आ रहा था। मौजूदा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को खत्‍म हो रहा है। लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसद उपराष्ट्रपति चुनाव में मतदान करने के लिए पात्र होते हैं। इसमें मनोनीत सदस्य भी शामिल हैं। संसद के दोनों सदनों में कुल 788 सांसद मतदान के पात्र हैं। चूंकि राज्‍य सभा की आठ सीटें रिक्त हैं। इसके चलते इस चुनाव में 780 सांसद वोटिंग के पात्र थे।