इस साल 15 अगस्त का मौका बेहद खास है क्योंकि भारत अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी( PM narendra modi) ने लगातार 9वें साल नई दिल्ली में लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रध्वज फहराया है। देशभर में ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ की धूम है और जनता के बीच भी 15 अगस्त को लेकर खासा उत्साह दिखाई दे रहा है।

Read more : CG BREAKING : मुख्यमंत्री के साथ कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन की वार्ता खत्म, महंगाई भत्ते बढ़ोतरी पर CM भूपेश ने दिया यह बड़ा बयान

पीएम मोदी ने कहा कि अब देश बड़े संकल्प लेकर चलेगा और वो बड़ा संकल्प है विकसित भारत और उससे कुछ कम नहीं होना चाहिए। दूसरा प्रण है किसी भी कोने में हमारे मन के भीतर अगर गुलामी का एक भी अंश हो उसे किसी भी हालत में बचने नहीं देना है। तीसरी प्रण शक्ति है कि हमें अपनी विरासत पर गर्व होना चाहिए। चौथा प्रण है कि एकता और एकजुटता हो।

हिंदुस्तान का कोई कोना, कोई काल ऐसा नहीं था- मोदी

पीएम मोदी( PM modi) ने कहा कि मंगल पांडे, तात्या टोपे, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर आज़ाद, असफाक उल्ला खां, राम प्रसाद बिस्मिल ऐसे हमारे अनगिनत क्रांति वीरों ने अंग्रेजों की हुकूमत की नींव हिला दी थी। हिंदुस्तान का कोई कोना, कोई काल ऐसा नहीं था, जब देशवासियों ने सैंकड़ों सालों तक गुलामी के खिलाफ जंग न की हो, जीवन न खपाया हो, यातनाएं न झेली हो, आहुति न दी हो।

सभी महापुरुषों, बलिदानियों, सत्याग्रहियों को याद किया,

पीएम मोदी( PM modi) ने कहा कि हिंदुस्तान( hindustan) के हर कोने में उन सभी महापुरुषों को याद करने का प्रयास किया गया, जिनको किसी न किसी कारणवश इतिहास में जगह न मिली, या उनकों भुला दिया गया था। आज देश ने खोज खोज कर ऐसे वीरों, महापुरुषों, बलिदानियों, सत्याग्रहियों को याद किया, नमन किया।