Vastu Tips For Chakla Belan: वास्तु शास्त्र में हर एक चीज के लिए कुछ नियम बताए गए हैं जिनका पालन करके व्यक्ति सुख-समृद्धि के साथ खुशहाली से रह सकता है। इसी तरह वास्तु शास्त्र में किचन को घर का सबसे जरूरी हिस्सा माना जाता है। क्योंकि इस जगह से ही व्यक्ति की स्वास्थ्य के साथ-साथ तरक्की निर्भर करती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, किचन में मौजूद हर एक चीज को वास्तु के हिसाब से रखने या खरीदने से कई तरह के दोषों से बचा जा सकता है। इसी तरह किचन में मौजूद चकला-बेलन व्यक्ति का भाग्य जगा सकता है। जानिए किस तरह चकला-बेलन व्यक्ति को धनवान और सुखी बना सकता है।

चकला-बेलन संबंधी वास्तु नियम

इन दिन न खरीदें चकला बेलन

वास्तु शास्त्र के अनुसार, चकला-बेलन खरीदते समय शुभ मुहूर्त का जरूर ध्यान रखना चाहिए। पंचांग के अनुसार, चकला-बेलन कभी भी मंगलवार, शनिवार के दिन नहीं करना चाहिए। इससे घर में दरिद्रता वास करती है।

इस दिन खरीदे चकला-बेलन

वास्तु शास्त्र के अनुसार, चकला-बेलन सुख-समृद्धि का कारक होते हैं। इसलिए बुधवार के दिन पत्थर या फिर लकड़ी का चकला-बेलन खरीदना सबसे शुभ माना जाता है.

इस तरह का चकला-बेलन न लें

वास्तु शास्त्र के अनुसार, चकला लेते समय इस बात का ध्यान रखें कि वह ऊंचा-नीचा न हो। एकदम समतल होना चाहिए। क्योंकि रोटी बनाते समय अगर आवाज आती है, तो यह अशुभ माना जाता है। इससे घर में अशांति और धन हानि होती है। इसलिए चकला-बेलन लेते समय इन चीजों का जरूर ध्यान रखें।

चकला-बेलन इस समय जरूर धोएं

कई लोगों का आदत होती हैं कि चकला-बेलन को रात को ऐसे ही छोड़ देते हैं, बल्कि वास्तु के अनुसार, ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह परिवार के स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है। इसके साथ ही वास्तु दोष उत्पन्न होता है। इसलिए रात को सोने से पहले चकला-बेलन जरूर धोकर रखें।

इस तरह न रखें चकला-बेलन

वास्तु शास्त्र के अनुसार, चकला को कभी भी उल्टा करके नहीं रखना चाहिए। इससे वास्तु दोष बढ़ता है। इसके साथ ही कभी भी किसी डिब्बे या फिर आटे के ऊपर न रखें। ऐसा करने से परिवार के सदस्यों के बीच अनबन हो सकती हैं।