सनातन धर्म में भक्त गण भगवान कृष्ण की भक्ति का मार्ग चुनते है। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार कृष्ण चरित्र में जीवन जीने का दर्शन छिपा हुआ है। शास्त्रों (shastro) अनुसार, कृष्ण जीवन के प्रति सकारात्मकता का संदेश देते है। भगवान कृष्ण के जीवन से जुड़ी प्रत्येेक वस्तुएं कुछ न कुछ संदेश देती है। कृष्ण जन्माष्टमी के दौरान सकारात्मक ऊर्जा ( positive energy) प्रवाह होता है। इस दिन वास्तु से जुड़े कुछ खास उपाय करने से जीवन में नकारात्मक ऊर्जा से छुटकारा मिलता है।

Read more : Vastu Tips For Chakla Belan: भूलकर भी इस दिन न खरीदें चकला-बेलन, वरना हो जाएंगे कंगाल, जानिए अन्य वास्तु नियम

बांसुरी( basuri) 

ऐसा माना जाता है कि बांसुरी रखने से पारिवारिक संबंध भी मजबूत होते हैं और इससे परिवार को सुखी और समृद्ध रखने वाले भगवान कृष्ण प्रसन्न( impress) होते हैं।

मोर पंख( mor pankh) 

हिंदू पौराणिक कथाओं में मोर पंख देवी लक्ष्मी से जुड़ा है जो अच्छे भाग्य , सौंदर्य , दयालुता आदि का प्रतिनिधित्व करती है। यही कारण है कि लोग मोर पंख को घर में रखते हैं क्योंकि उनका मानना है कि यह घर में समृद्धि और धन लाता है। मोर पंख घर को मक्खियों और अन्य कीड़ों से भी मुक्त रखते हैं।

घर में नकारात्मक ऊर्जा को करती है दूर

घर में नकारात्मक( negative energy) ऊर्जा को दूर करने के लिए घर में बांस और मोर पंख से बनी बांसुरी को रखने के कुछ तरीके हैं। कृष्ण जन्माष्टमी के दिन इन उपायों को करने से जीवन में समृद्धि आती है।