रायपुर।“छत्तीसगढ़ में बीते साढ़े तीन साल में परिस्थितियां बदली हैं। हर वर्ग के आय को बढ़ाने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने काम किया है। हमने लोगों का जीवन स्तर सुधारने के लिए काम किया है। हर वर्ग को सुविधा मिले, जिसके वे हकदार हैं।” यह बातें मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहीं।

Read more : CM Bhupesh Baghel Birthday : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का जन्मदिन आज, पीएम नरेंद्र मोदी समेत कई नेताओं ने दी बधाई

मुख्यमंत्री  बघेल ने राजस्थान पत्रिका समूह के एफएम तड़का( FM tadka) द्वारा रायपुर के एक निजी होटल में आयोजित बिजनेस आईकॉन अवॉर्ड में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस दौरान उन्होंने एफएम तड़का की ओर से चयनित छत्तीसगढ़ राज्य के 21 बिजनेसमैन को सम्मानित किया।

सरकारी कर्मचारी तक सबको राहत देने के लिए कुछ-न-कुछ कर रहे

हम किसान, मजदूर, गरीब से लेकर उद्योगपति, व्यापारी, पत्रकार और सरकारी कर्मचारी तक सबको राहत देने के लिए कुछ-न-कुछ कर रहे हैं। परिस्थितियों के अनुरूप आज के दौर में अर्थव्यवस्था को संभालना कठिन कार्य है, लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार इस दिशा में निरंतर कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग-व्यापार के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि उनके पास ग्राहक हों और ग्राहक के पास पैसा हो, तभी उद्योगों का पहिया घूमेगा।

गोबर से भी कैसे पैसा कमाया जा सकता है, यह बात छत्तीसगढ़ सरकार ने पूरे देश-दुनिया को बता दी

मुख्यमंत्री  बघेल ने कहा कि गोबर से भी कैसे पैसा कमाया जा सकता है, यह बात छत्तीसगढ़ सरकार ने पूरे देश-दुनिया को बता दी है। गांवों में ग्रामीण आजीविका पार्क की स्थापना कर हर गांव में उद्योग शुरू किए जा रहे हैं, जहां अनेक तरह के उत्पादों का निर्माण और संवर्धन, प्रसंस्करण का कार्य किया जा रहा है, इससे ग्रामीणों को काम मिल रहा है और उनकी आय में भी वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि, आज छत्तीसगढ़ की ग्रामीण महिलाओं के चेहरे पर आत्मविश्वास दिखाई देता है, जिसकी तुलना नहीं की जा सकती। बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा में स्थापित डेनेक्स से आज दुनियाभर को कपड़ों की सप्लाई हो रही है।

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे नवाचार और प्रयासों पर बात

मुख्यमंत्री  बघेल ने छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे नवाचार और प्रयासों पर बात करते हुए कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के बच्चों को भी भविष्य में बेहतर अवसर उपलब्ध हों, इस दृष्टिकोण से स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल की शुरुआत की गई।