जगदलपुर :- विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा की चौथी रस्म नार फोड़नी की रस्म पूरे विधि विधान से हुई संपन्न 75 दिनों तक मनाए जानें वाले विश्व प्रशिद्ध बस्तर दशहरे की नार फोड़नी रस्म बुधवार को पूरी की गई, जगदलपुर के सिरहासार चौक में रथ निर्माण का काम चल रहा है.

नार फोड़नी की रस्म के तहत विशालकाय रथ में लगने वाले लकड़ी के चक्कों में एक्सल के लिए आज छेद किए जाते है मुख्य रूप से यह रस्म लोहारों द्वारा पूरी की जाती है,

पारम्परिक तरीके से बस्तर दशहरा समिति के सदस्यों ने पूजा पाठ कर मोंगरी मछली और बकरे की बलि देकर इस रस्म को पूरा किया,

पूरी आस्था के साथ बस्तर दशहरे का रथ बनाने का काम करीगर कर रहे हैं बता दें की बस्तर दशहरा की पहचान विशालकाय रथ बनाने के लिए 150 के लगभग कारीगर दिन रात काम सिरहासार चौक में कर रहे हैं।