OFFICE DESK :- छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Election 2023) के लिए 16 महीने ही शेष रह गए हैं. ऐसे में बस्तर (Bastar) में चुनावी सरगर्मियां तेज हो चली हैं.
एक के बाद एक विपक्ष और पक्ष के नेता लगातार बस्तर का दौरा कर रहे हैं. प्रदेश के उद्योग मंत्री और बस्तर के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा (Kawasi Lakhma) पिछले 2 दिनों से यहां डेरा डाले हुए हैं
और अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने के साथ कांग्रेस (Congress) नेताओं और कार्यकर्ताओं से भी मेल-मिलाप कर रहे हैं. इस बीच बुधवार को बीजेपी (BJP) प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव (Arun Sao) भी अपने 5 दिवसीय प्रवास पर बस्तर पहुंचे हुए हैं. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद अरुण साव का यह पहला बस्तर दौरा है.
साथ ही नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल भी उनके साथ पहुंचे हुए हैं. जगदलपुर शहर में बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ता ने अपने दोनों ही बड़े नेताओं का जोर-शोर से स्वागत किया.
इसके बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ शहर के पार्टी कार्यालय में बैठक की. इस पर प्रदेश के आबकारी मंत्री और बस्तर के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा का कहना है कि जिस तरह से नई दुल्हन अपने ससुराल आती है, तो उसका जोर-शोर से स्वागत किया जाता है, उसी तरह प्रदेश अध्यक्ष का भी बीजेपी वाले स्वागत कर रहे हैं, लेकिन बस्तर की जनता कांग्रेस के ही साथ है और उनके बस्तर दौरे से आगामी विधानसभा चुनाव में कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

बस्तर के सभी विधानसभा सीटों पर बीजेपी मजबूत: अरुण साव

कवासी लखमा ने कहा कि 2023 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 80 सीटों पर चुनाव जीतेगी और इसकी शुरुआत बस्तर से ही की जाएगी. बस्तर संभाग के 12 के 12 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस की जीत सुनिश्चित है.
दूसरी तरफ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव अपने 5 दिवसीय बस्तर प्रवास के दौरान जगदलपुर, सुकमा, दंतेवाड़ा ,बीजापुर, नारायणपुर, कोंडागांव और कांकेर जिले का दौरा करेंगे और यहां के कार्यकर्ताओं से मिलेंगे. अरुण साव और नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा कि बीजेपी अपनी चुनाव की तैयारी बस्तर से ही शुरू कर रही है. पिछले चुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार बस्तर से ही जीत की शुरुआत होगी. इसके लिए बस्तर संभाग के सभी 12 विधानसभा सीटों पर संगठन पूरी तरह से मजबूत है.

‘एक बार फिर बीजेपी जीतेगी’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भले जितने भी दावा कर ले, लेकिन इस बार उनकी हार निश्चित है. बस्तर की जनता ने भी एक बार कांग्रेस को मौका दिया, लेकिन सरकार बनाने के बाद भी बस्तर के विकास में कांग्रेसी काफी पीछे हैं. ऐसे में आने वाले चुनाव में एक बार फिर बीजेपी जीतेगी और क्षेत्र का विकास करेगी.
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने भी तीन दिवसीय बस्तर का दौरा किया और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की थी. इसके अलावा बीजेपी में प्रदेश महामंत्री बनने के बाद केदार कश्यप भी संभाग के सातों जिलों का दौरा कर रहे हैं. कुल मिलाकर बस्तर में कांग्रेस और बीजेपी ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी शुरू कर दी है. दोनों ही पार्टी के नेता बस्तर के सभी जिलों का दौरा कर अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं.