मामला जिला मुख्यालय गरियाबंद के गांधी मैदान स्थित वी०एफ०एस० केपिटल लिमिटेड शाखा का है जहां के एरिया प्रबंधक संजय सिंह पिता नकछेद सिंह ने सिटी कोतवाली गरियाबंद में लिखित आवेदन पेश किया कि वर्ष 2019 से 2022 तक सीएसआर के पद पर पदस्थ शुभम चंद्राकर के द्वारा विभिन्न महिला स्व-सहायता समूहों को दिए गए लोन राशि का किस्त वसूली कर 5,21,646/-रुपये को कंपनी के खाते में जमा न कर शुभम चंद्राकर उक्त रकम को गबन कर लिए की रिपोर्ट पर सिटी कोतवाली गरियाबंद में अपराध दर्ज कर
घटना की जानकारी जिले के आला अधिकारियों को दिया गया जिसके बाद जिला गरियाबंद के पुलिस कप्तान जे.आर. ठाकुर के दिशा-निर्देश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंद्रेश ठाकुर के मार्गदर्शन, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस गरियाबंद पुष्पेंद्र नायक के पर्यवेक्षण तथा निरीक्षक गौतम चंद गावड़े के नेतृत्व में टीम गठित कर  तलाश किया गया। तलाश दौरान मुखबिर सूचना के आधार आरोपी शुभम चंद्राकर को महासमुंद से घेराबंदी कर पकड़ा गया जिसके बाद आरोपी को हिरासत में ले कर पूछताछ करने पर जुर्म स्वीकार कर घटना को अंजाम देने के बाद उक्त रकम को अपने खाने-पीने के चीजों में उपयोग कर रकम को खर्च कर देना बताया जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में न्यायालय पेश किया गया।
उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी सिटी कोतवाली गरियाबंद निरीक्षक गौतम चंद गावड़े, प्र०आर० डिगेश्वर साहू, आर० मुरारी यादव, रवि सोनवानी की सराहनीय भूमिका रही।

*शुभम चंद्राकर पिता चिन्तु राम चंद्राकर उम्र 26 साल निवासी ग्राम परसवनी पोस्ट बिरकोनी थाना व जिला महासमुंद (छ०ग०)*