विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा पर्व 2022 को बस्तरवासियों द्वारा उत्साह एवं उल्लास से मनाया जा रहा है। ऐतिहासिक बस्तर दशहरा पर्व को सुरक्षित एवं व्यवस्थित तरीके से संपन्न कराने हेतु जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा आवश्यक बंदोबस्त किया गया।
बस्तर दशहरा पर्व का प्रमुख आकर्षण रथ परिक्रमा दिनांक 27 सितम्बर से प्रारंभ होकर 02 अक्टूबर, 2022 तक प्रतिदिन सायंकाल जगदलपुर शहर के सिरहासार भवन से गोल बाजार होते हुये दन्तेश्वरी मांई जी के मंदिर तक संपादित हुई, जिस हेतु जन सहयोग से यातायात तथा अन्य सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की गई।
परम्परागत तरीके से रथ परिक्रमा के पूर्व बस्तर पुलिस द्वारा मां दन्तेश्वरी के सम्मान में सलामी दी जाती है। उल्लेखनीय है कि विगत 02 वर्षों से यह सलामी की कार्यवाही महिला पुलिस बल एवं महिला पुलिस बैण्ड द्वारा की जा रही है।
 सुन्दरराज पी., पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज,श्याम धावड़े, आयुक्त, बस्तर संभाग, जितेन्द्र मीणा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जिला बस्तर,  चंदन कुमार, कलेक्टर, जिला बस्तर एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा बस्तर दशहरा की सुरक्षा की तैयारी का जायजा लेते हुये सभी संबंधितों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।
बस्तर दशहरा पर्व को देखने तथा शामिल होने के लिए बस्तरवासियों के अलावा देश-विदेश से काफी बड़ी संख्या में पर्यटक एवं श्रद्धालुगण जगदलपुर आ रहे हैं। इन सब के लिए बस्तर पुलिस द्वारा लगाये गये प्रदर्शनी स्टॉल एक प्रमुख आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। बस्तर क्षेत्र के शांति, सुरक्षा एवं विकास हेतु शासन, प्रशासन एवं सुरक्षा बल द्वारा किये जा रहे प्रयासों को दर्शाते हुये लगाये गये प्रदर्शनी दर्शकों द्वारा अवलोकन कर लाभान्वित हो रहे हैं।
पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज  सुन्दरराज पी. द्वारा बताया गया कि विगत वर्षों में बस्तर क्षेत्र के प्रति निर्मित हो रही सकारात्मक छवि तथा स्थानीय आदिवासी संस्कृति एवं परम्परा को दी जा रही बढ़ावा के कारण बस्तर दशहरा पर्व को देखने के लिए बड़ी संख्या में बाहर से पर्यटक एवं श्रद्धालुओं का आवागमन को ध्यान में रखते हुये बस्तर पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन द्वारा आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।