नाइजीरिया के जम्फारा राज्य में इस्लामिक शरिया कोर्ट ने शादी के एक हफ्ते बाद ही आएशा को तलाक की इजाजत दे दी। उन्होंने कोर्ट को बताया कि पहली शादी टूटने के बाद उन्होंने मैजिनरी से दूसरी शादी की थी। स्थानीय रीति-रिवाजों के अनुसार पति के घर जाने से पहले दूल्हे को दुल्हन के माता माता-पिता के घर बुलाया जाता है।

यही वो मौका था जब दोनों पहली बार हम बिस्तर हुए। पहले अनुभव के साथ ही आएशा का ट्रॉमा शुरू हो गया। उन्होंने कोर्ट को बताया कि वो हमारे घर आए और हम दोनों पहली बार हम बिस्तर हुए, लेकिन वो अनुभव किसी दुस्वप्न से कम नहीं था। उन्होंने बताया कि सेक्स को इंजॉय करने की बजाय इसका अनुभव कुछ अलग ही था, क्योंकि उनका गुप्तांग कुछ ज्यादा ही बड़ा था।

पहले कड़वे अनुभव के बाद आएशा ने दवा ली। उन्होंने बताया कि मैंने अपनी मां को अपने इस अनुभव के बारे में बताया, तो उन्होंने बताया कि धीरे-धीरे आपको अच्छा लगने लगेगा। उन्होंने नाइजीरियाई मीडिया को बताया कि इसके बाद उनकी मां ने उन्हें दवा भी दी।

आएशा के अनुसार उन्होंने फिर अंतरंग संबंधों का लुत्फ लेने की कोशिश की, लेकिन दर्द असहनीय था। इसके बाद दोनों ने निर्णय लिया कि कोई भी दवा उनकी सेक्स लाइफ और शादी को बचा नहीं सकती। आएशा के पति ने भी अपनी पत्नी की हां में हां मिलाई और कहा कि वो शादी को और ज्यादा बनाए नहीं रखना चाहते, लेकिन उन्होंने तलाक के लिए शादी में दिया गया दहेज और कोर्ट फीस वापस करने की मांग जरूर की।

जम्फारा नाइजीरिया की राजधानी लागोस से करीब 500 मीटर दूर उत्तर-पश्चिम में है। यह नाइजीरिया का पहला राज्य है जहां शरीया कानून को मान्यता दी गई है। आमतौर पर पुरुषों के गुप्तांग की लंबाई चरम अवस्था में 5.2 इंच यानी करीब 13.12 सेमी होती है, जबकि शिथिल अवस्था में यह लंबाई 3.6 इंच यानी 9.16 सेमी होती है।