भिलाई । प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के सेक्टर 7 स्थित अंतर्दिशा भवन के पीस ऑडिटोरियम में “क्रिएटिंग ग्रेटनेस” कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमे दुर्ग जिले के सभी स्कूल के प्राचार्य एवं शिक्षकों के लिए ट्रेनिंग सेशन कार्यशाला आयोजित किया गया।

कार्यशाला को संबोधित करते हुए वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका एवं मोटिवेशनल स्पीकर ब्रम्हाकुमारी प्राची दीदी ने क्रिएटिंग ग्रेटनेस का आशय स्पष्ट करते हुए कहा कि आज की वर्तमान आवश्यकता है हमारे व्यक्तित्व से महानता की लहर वातावरण में फैले | हमें किताबी ज्ञान देने के साथ-साथ हमारे आचरण हर कर्म से शिक्षा से शिक्षा देना ही क्रिएटिंग ग्रेटनेस है|

शिक्षा नगरी भिलाई जो एजुकेशन हब के रूप में भारत में प्रसिद्ध है जिसे हमें और आगे बढ़ाते हुए छूना है आसमान की बुलंदियों को| आपने सभी प्राचार्यो एवं शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा की बच्चों को कोरे कागज पर पहला अक्षर लिखना आप सिखाते हैं| बच्चों की समस्याओं को जिसमें पेरेंट्स के साथ-साथ हम टीचर भी बच्चों के कोमल मन को नहीं पढ़ पाते हैं बच्चों का कोमल मन आज नेगेटिविटी में फंस चुका है|
सर्वप्रथम कार्यशाला का विधिवत शुभारंभ जिला शिक्षा अधिकारी अमित घोष जी एवं विभिन्न विद्यालय के प्राचार्य एवं ब्रम्हाकुमारी बहनों ने दीप प्रज्वलन कर किया|

प्राची दीदी ने आगे बताया की दृढ़ता का संकल्प कर हमें स्वयं परिवर्तन हो छात्रों को परिवर्तन करना है| बच्चे बहुत जल्दी ही दूसरे की शिक्षाओं को देखकर कॉपी करते हैं चाहे अच्छा हो या बुरा| बच्चों का चिड़चिड़ापन बढ़ता जा रहा है| आपने सभी समस्याओं का समाधान देते हुए कहा कि आई एम मास्टर ऑफ माय माइंड |