रसना ग्रुप ( rasna group)के फाउंडर आरिज पिरोजशाह खंबाटा का 85 साल की उम्र में निधन हो गया। रसना ग्रुप ने बताया कि शनिवार, 19 नवंबर को उनका निधन हुआ है।

Read more : Al-Zawahiri Dead : आतंक पर बड़ी चोट, CIA ने ड्रोन स्ट्राइक में अलकायदा सरगना अल जवाहिरी को उतारा मौत के घाट

रसना अब दुनिया भर के 60 देशों में बेचा जाता है और मल्टीनेशनल कॉर्पोरेशन्स (MNCs) के वर्चस्व वाले बेवरेज सेगमेंट में हमेशा एक मार्केट लीडर ( market leader)रहा है। खंबाटा ने 1970 के दशक में उच्च कीमत पर बेचे जाने वाले सॉफ्ट ड्रिंक प्रोडक्ट के विकल्प में इसे पेश किया था।

मध्यमवर्गीय परिवारों( family) के मन पर छाया

अरीज खंबाटा के बेटे पिरुज खंबाटा 18 वर्ष के होने के साथ ही पुश्तैनी कारोबार से जुड़े। कंपनी का प्रोडक्ट ( product) बड़ा करते हुए पिरुज खंबाटा अपने दादा व पिता का यह बिजनेस मंत्र नहीं भूले कि उत्पाद भारतीय परंपरा के अनुसार हो, उनका आधार फल हो और मूल्य मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए अफोर्डेबल हो।

वर्तमान बाजार हिस्सेदारी 80% के करीब

भारत के प्रतिष्ठित पेय ब्रांडों में से एक, रसना ने पिछले तीन दशकों में अपने लिए एक नीश मार्केट( market) तैयार किया है। इंटरनेशनल कंपनियों( international) से कॉम्पिटिशन के बीच, रसना ने अपनी प्रतिष्ठा बनाए रखी है और अपने कई कॉम्पिटिटर्स को कड़ी टक्कर दी है।