ग्रैंड न्यूज़ डेस्क। एडवोकेट आयुष जिंदल को कानून के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए सोसाइटी यंग अचीवर्स अवार्ड 2022 के साथ महाराष्ट्र के चीफ मिनिस्टर और डिप्टी चीफ मिनिस्टर( deputy chief minister) द्वारा सम्मानित किया गया। आयुष रायपुर निवासी निरंजन अग्रवाल के सुपुत्र है, साथ ही दिल्ली के प्रख्यात वकील विजय अग्रवाल के दामाद भी है, वर्तमान में आयुष कोयला घोटाले केस में फसे कारोबारी सुनील अग्रवाल की पैरवी कर रहे है।

Read more : Conference Of Law Ministers : कानून मंत्रियों को बोले PM मोदी , ‘स्वस्थ समाज के लिए मजबूत न्याय व्यवस्था जरूरी’

बता दें कि पेशे से वकील आयुष जिंदल आपराधिक कानून और सफेदपोश अपराधों के विशेषज्ञ हैं। आयुष को उनके हाई-प्रोफाइल मामलों के लिए जाना जाता है, जिसमें पत्रकार अर्नब गोस्वामी, पूर्व-कैबिनेट मंत्री प्रफुल्ल पटेल, हिंदुस्तान पावर प्रोजेक्ट्स के निदेशक मंडल के अध्यक्ष रतुल पुरी, अनुपम खेर, हेमा मालिनी, सिद्धार्थ मल्होत्रा, सोनू सूद, रोहित शेट्टी, फराह खान, उद्यमी कुमार मंगग्लाम बिड़ला, गौतम सिंघानिया, डॉ नीरजा बिड़ला, अमरुटा फडणवीस जैसे कुछ नाम शामिल हैं।

मुंबई के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज में कानून की पढ़ाई

आयुष ने अपना स्नातक वर्ष यूएसए में बिताया, रीजेंट विश्वविद्यालय, लंदन और वेबस्टर विश्वविद्यालय, सेंट लुइस से मार्केटिंग का अध्ययन किया। इसके बाद वे मुंबई के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज में कानून की पढ़ाई करने के लिए भारत वापस आ गए। उन्होंने आईसीआईसीआई मामले, एयर इंडिया मामले और कोयला घोटाला मामलों में अभियुक्तों का प्रतिनिधित्व किया है। उनके अभ्यास में SFIO, प्रवर्तन निदेशालय, CBI, EOW के कई हाइलाइट( highlight) किए गए मामलों में बचाव पक्ष शामिल है।