CG CRIME NEWS : रायगढ़। रायगढ़ पुलिस ने ऑन लाइन फ्राड करने वाले शातिर गिरोह का पर्दाफाश करने में बड़ी कामयाबी हासिल की हैं। कोलकाता के ठिकाने पर छापामार कार्यवाही कर गिरोह के 22 मेंबर को गिरफ्तार किया हैं, इनमें 8 लड़के और 14 लड़किया शामिल हैं। बताया जा रहा हैं कि ये सभी लड़के-लड़कियां तीन कमरों में फेक कॉल सेंटर चलाकर देशभर में कॉल कर ऑन लाइन ठगी कर लोगों को शिकार बना रहे थे।

गौरतलब हैं कि देशभर में ऑन लाइन ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। साइबर फ्रांड के ऐसे ही बढ़ते मामलों पर रायगढ़ एसपी अभिषेक मीणा ने बड़ा एक्शन लेते हुए पुलिस टीम को गिरोह का पर्दाफाश करने के टॉस्क में लगाया गया था। पुलिस की तफ्तीश में रायगढ़ पुलिस की टीम को सायबर फ्रांड गिरोह का कोलकाता से ऑपरेट होने की अहम जानकारी हाथ लगी। इसके बाद एसपी ने पुलिस अधिकारियों की टीम कोलकाता रवाना किया गया। जहां पुलिस टीम ने छापामार कार्यवाही कर 22 लोगों को गिरफ्तार किया हैं।

एसपी ने बताया कि सायबर फ्राड के इस गिरोह में 25 मेंबर थे, जो कि तीन कमरों में कॉल सेंटर की तरह अपने काम को ऑपरेट किया करते थे। आरोपियों से पूछताछ में पता चला हैं कि प्रति दिन ये लोग देश भर में 5 हजार लोगों को कॉल किया करते थे। इनके झांसे में जैसे ही कोई भी व्यक्ति आता था, उसकी बैंकिंग जानकारी लेकर तुरंत ठगी कर लिया जाता था। रायगढ़ जिला में अभी तक 71 फ्राड के मामले सामने आये हैं, जिसमें इस गिरोह ने 1 करोड़ रूपये से भी अधिक का फ्राड किया गया हैं।

कोलकाता में अरेस्ट हुए 22 आरोपियेां में 8 लड़के है, जबकि 14 लड़किया हैं। एसपी ने बताया कि ट्रांजिट रिमांड पर 8 लोगों को रायगढ़ लाया गया हैं, वही 14 आरोपी लड़कियों को कंडिशनल बेल पर रायगढ़ में सरेंडर करने की अनुमति न्यायालय से मिली हैं। एसपी कहाँ- सायबर फ्राड के इस गिरोह में अधिकांश काम करने वाली लड़किया ही है, जो बड़ी ही आसानी से लोगों को अपनी बातों में फंसाकर उनके साथ ठगी कर लिया करती थी। रायगढ़ पुलिस इस गिरोह द्वारा किये गये ठगी के मामलों का पता लगा रही है। पुलिस की जांच में इस गिरोह के द्वारा रायगढ़ के अलावा छत्तीसगढ़ के दूसरे जिलों से भी ठगी के मामले सामने आने की उम्मींद हैं।