CG NEWS : बेमेतरा। पेंशन की आस मैं कार्यालय का चक्कर लगा-लगाकर परेशान बूढ़ी महिला ने कलेक्टर से लगाई गुहार। यह पूरा मामला बेमेतरा जनपद पंचायत क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम कोसा का है जहां की 77 वर्षीय महिला रामहीन चक्रधारी पेंशन के लिए ग्राम पंचायत से गुहार लगाई, पेंशन नहीं मिलने के पश्चात वह कई कार्यालयों के चक्कर लगा चुकी है लेकिन अब तक उसे पेंशन नहीं मिला।

जिसके बाद थककर बूढ़ी दिव्यांग महिला ने कलेक्टर से पेंशन के लिए गुहार लगाई है। राज्य शासन लाख दावे करें पर जमीनी हकीकत कुछ और बयां करती है लंबे समय से पेंशन के लिए सरपंच सचिव से गुहार लगाने के बाद भी अगर पेंशन स्वीकृत ना हो तो शासन की योजनाओं के हकीकत को समझा जा सकता है।  टेंशन की आस में तरसती बूढ़ी आंखें छत्तीसगढ़ सरकार के सारे नियम एवं कानून की पोल खोलती है दरअसल शासन की योजना सिर्फ कागज और फाइल तक ही सीमित है वरना इस बुजुर्ग महिला को अब तक पेंशन मिल जाता आखिर क्या कारण है और किसकी वजह से इस बुजुर्ग महिला को पेंशन नहीं मिली , इसके लिए जिम्मेदार कौन है यह सारे सवाल शासन की योजनाओं को लेकर सवाल खड़े करते हैं।