अमेरिका में फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (USFDA) ने हेमजेनिक्स (Hemgenix) नाम की एक दवा को मंजूरी दी है. हेमजेनिक्स दुनिया की सबसे महंगी दवा है, जिसकी कीमत 35 लाख डॉलर प्रति खुराक है

Read more : INTERESTING NEWS : रात के अंधेरे में प्रेमी से मिलने पहुंची प्रेमिका, ग्रामीणों ने रंगेहाथ पकड़ा और मंदिर में करा दी शादी 

रिपोर्ट के अनुसार, ये देश में हीमोफिलिया बी (hemophilia B) के लिए पहली जीन थेरेपी है. यह दवा खून के थक्के (Blood Clotting) के वन टाइम ट्रीटमेंट के लिए इस्तेमाल होती है. अब एजेंसी की तरफ से इस सबसे महंगी दवा को बाजार में बिक्री के लिए रखा गया है।

क्या है हीमोफीलिया ब्‍लीडिंग डिसऑर्डर

हीमोफीलिया ब्‍लीडिंग डिसऑर्डर (रक्तस्राव विकार) है. यह एक आनुवांशिक रोग है और बहुत कम लोगों में पाया जाता है. इस बीमारी के कारण शरीर में रक्त के थक्के जमने की प्रक्रिया धीमी पड़ जाती है और इस कारण से शरीर से बह रहा खून जल्दी नहीं रुक पाता है. ऐसी स्थितियों में व्यक्ति का समय पर इलाज न होने पर उसकी मृत्यु भी हो सकती है