दुर्ग। CG CRIME NEWS : जिले में बूढ़े माता पिता जब अपनी संतान को सही रास्ते पर नहीं ला पाए तो उसे मौत के घाट उतार दिया। उन्होंने घरवालों के साथ मिलकर बेटे को बुरी तरह मारा-पीटा और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। धमधा पुलिस ने जब शव का पीएम कराया तो मामला हत्या का निकला। इसके बाद सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।

ALSO READ : CG NEWS : पेट्रोल पंप में बाइक सवार तीन युवकों ने चलाई गोली, देखें CCTV फुटेज, आरोपियों का सुराग देने वाले को मिलेंगे 50,00 रूपये 

 

धमधा थाना प्रभारी सोमेश पटेल ने बताया कि उन्हें दो जनवरी को सूचना मिली थी कि कोनका गांव में एक युवक की मौत हो गई है। मौके पर जाकर देखा कि 42 वर्षीय गंगाधर पटेल पिता द्वारिका पटेल का शव उसी के घर में संदिग्ध हालत में पड़ा हुआ है। जांच करने पर मृतक के सिर, गर्दन और शरीर पर चोंट और खरोच के निशान थे।

 

पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पीएम के लिए भेजा, और परिजनों से पूछताछ की। परिजनों ने घटना के बारे में कोई भी जानकारी नहीं होना बताया। शॉर्ट पीएम कराने पर पता चला कि युवक की गला घोंटकर हत्या की गई है। साथ ही उसके साथ बुरी तरह मारपीट की गई। इससे शरीर में कई जगह गंभीर चोट के निशान हैं। पीएम रिपोर्ट आते ही पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया।

शराब के लिए पैसे नहीं देने पर करता था मारपीट 

हत्या का मामला दर्ज कर पुलिस ने घटनास्थल में एक्टिव मोबाइल लोकेशन की जानकारी जुटी। आसपास के लोगों से भी पूछताछ की। मजबूत साक्ष्य जुटाने के बाद पुलिस ने घरवालों से सख्ती से पूछताछ की। इस पर वो टूट गए और हत्या करना स्वीकार किया। उन्होंने बताया कि गंगाधर पटेल आदतन शराबी था। वो रोजाना अपने परिवार वालों से शराब पीने के लिए पैसा मांगता था। नहीं देने पर झगड़ा करता था। घटना की रात भी वह शराब पीकर घर पहुंचा था। उसने अपने पिता द्वारिका पटेल से पैसा मांगा। नहीं देने पर वह पिता के साथ मारपीट करने लगा यह देख मां दुरपति पटेल ने अपने बेटे धनराज पटेल और भाई मनी राम पटेल को बुलाया। सभी ने मिलकर गंगाधर पटेल को खूब मारा और गला घोंटकर हत्या कर दी।

परिजनों ने बनाई खुदकुशी का रूप देने की योजना

गंगाधर की हत्या के बाद परिजनों ने उसे खुदकुशी का रूप देने की योजना बनाई। उन्होंने उसके शव को घर के कमरे में रख दिया। इसके बाद सुबह उसकी मौत की सूचना देकर रोना पीटना चालू कर दिया। लेकिन पुलिस ने उनकी पूरी योजना को फेल कर दिया। पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लेकर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।