नई दिल्ली। NATIONAL NEWS : भारत के प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) डीवाई चंद्रचूड़ शुक्रवार को अपनी 2 बेटियों को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार, सुबह करीब 10 बजे, सीजेआई अपनी दो बेटियों को सार्वजनिक गैलरी से अदालत कक्ष में लाए। सूत्रों ने कहा कि शीर्ष अदालत के गलियारों में वकीलों के लिए यह आश्चर्य की बात थी, जब सीजेआई अपनी बेटियों के साथ अदालत में आए।

एक सूत्र ने कहा कि चंद्रचूड़ को अपनी बेटियों को यह कहते हुए सुना जा सकता है, देखो, यह वह जगह है जहां मैं बैठता हूं। जानकारी के मुताबिक, सीजेआई उन्हें अपना कक्ष और अदालत कक्ष दिखाने के अलावा उस स्थान पर भी ले गए जहां से वकील अपने मामलों की पैरवी करते हैं।
इसे भी पढ़े- RAIPUR NEWS : राजधानी के तीन च्वाईस सेंटरों पर श्रम अधिकारियों की दबिश, फर्जी प्रमाण-पत्र बनाने के मामले को लेकर सघन जांच
प्रसिद्ध वकील इंदिरा जयसिंह ने ट्वीट किया, यह जानकर आश्चर्य हुआ कि सीजेआई अपने बच्चों को अदालत में लाए। अदालत का मानवीयकरण इसे कम डराने वाला बनाता है। एक बार अदालत में एक बच्चे से बात करने के लिए मुझे सुरक्षाकर्मियों ने फटकार लगाई थी, यह कहते हुए कि ‘बच्चों को यहां अनुमति नहीं है। सीजेआई चंद्रचूड़ ने 9 नवंबर को कार्यभार संभाला और 10 नवंबर, 2024 तक पद पर बने रहेंगे।