ग्रैंड न्यूज़ डेस्क। CG CRIME NEWS : छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में 4 दिन पहले हुई बुजुर्ग की हत्या मामले का राज खुल गया है। असल में उसकी हत्या उसके 2 बेटों ने ही की थी। बेटों ने अपने पिता को इसलिए मार दिया, क्योंकि बुजुर्ग झाड़-फूंक करता था। इसलिए लोग उन्हें ताने मारा करते थे। इसलिए आरोपियों ने अपने चचेरे भाई और दोस्त के साथ मिलकर बुजुर्ग की डंडे से पीट-पीटकर हत्या की। फिर पेड़ पर फंदे से उसके शव को लटका दिया था। मामला कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

ALSO READ : CRIME NEWS : भाभी से झगडे के बाद ननद ने खाया जहर, हुई मौत, घर में पसरा मातम

 

6 जनवरी को घोटिया निवासी दरियाव कुमेटी(70) की लाश पेड़ से लटकी हुई थी। उसके एक दिन पहले वह रात को अपने खेत के पास बने मकान में पत्नी और मां के साथ सो रहा था। उसी वक्त नकाबपोश बदमाश उसे घर से उठाकर ले गए थे। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। अगले दिन परिजनों ने ही उसकी लाश देखी थी। जिसके बाद परिजनों ने ही पुलिस को इसकी सूचना दी थी। तब से पुलिस इस केस में जांच कर रही थी।

ALSO READ :  Breaking News : राजधानी में बड़ा हादसा, ब्रेक फेल होने से झुग्गियों में घुसी डीटीसी बस, कई घायल

 

ऐसे हुआ खुलासा 

बताया गया कि बुजुर्ग के शरीर में काफी चोट के निशान मिले थे। इसी वजह से पुलिस हत्या के एंगल से ही जांच कर रही थी। इस बीच पुलिस को पता चला कि बुजुर्ग का उसके बेटों से कुछ दिन पहले विवाद भी हुआ था। इसके बाद पुलिस ने बुजुर्ग के बेटों को हिरासत में लिया था। मगर पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करना शुरू कर दिया था। बाद में जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की, तब उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

ALSO READ :  Breaking News : राजधानी में बड़ा हादसा, ब्रेक फेल होने से झुग्गियों में घुसी डीटीसी बस, कई घायल

 

पैसे देने से भी किया था इंकार 

आरोपी तुरसेन कुमेटी और नरसिंह कुमेटी ने पुलिस को बताया कि पिता जी झाड़-फूंक करते थे। इसलिए लोग हमें ताने मारते थे। कुछ दिन पहले धान बेचने का पैसा भी आया था। हमने उनसे पैसे मांगे। मगर उसने पैसे देने से इनकार कर दिया था। जिसके चलते हमारा विवाद भी हुआ। लेकिन लोग हमें आए दिन ताने मारते थे। इसलिए हम लोगों ने मिलकर पिता को मारने का प्लान बनाया था।

 

ALSO READ : CRIME NEWS : भाभी से झगडे के बाद ननद ने खाया जहर, हुई मौत, घर में पसरा मातम

मारकर सो गए थे

आरोपियों ने बताया कि घटना के दिन हमने अपने चचेरे भाई जय कुमेटी और दोस्त सनत दुग्गा को भी बुलाया था। इसके बाद हम रात को खेत वाले घर गए और वहां से हमने दरियाव को उठाया और पेड़ की तरफ ले गए। वहां हमने लाठी-ंडंडे से उसे बेदम पीटा। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद घर में जाकर सो गए थे।

 

4 आरोपी गिरफ्तार

आरोपियों ने बताया किसी को पता नहीं चले। इसलिए हम लोग सुबह तक घर पर ही थे। उसी दौरान हमारी मां ने हमें इस बारे में जानकारी दी थी। पुलिस को भी पता नहीं चले। इसलिए हम लोगों ने ही पुलिस को फोन किया था। पुलिस ने दोनों आरोपी की निशानदेही पर 2 और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने मंगलवार को पूरे मामले का खुलासा किया है।