बिलासपुर : CG NEWS : बिलासपुर में बैंक और आबकारी के कर्मचारियों द्वारा मिलकर आबकारी विभाग को 1.27 करोड़ का चुना लगाने का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि कर्मचारियों ने बैंक में बिना रुपए जमा किए ही जमापर्ची लेकर इस गड़बड़ी को अंजाम दिया गया है। इस गड़बड़ी के सामने आते ही ठेका कंपनी के अधिकारियों ने इसकी शिकायत बैंक के प्रबंधक से की। बैंक प्रबंधक की शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर आरोपी बैंक कैशियर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं पुलिस इस मामले में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

इन्हें भी पढ़ें : ACCIDENT NEWS : बाइक से जा रहा था परिवार, मेट्रो पिलर गिरने से माँ-बेटे की मौत, पिता और बेटी गंभीर 

जमा पर्चियां मौजूद, लेकिन खाते में नहीं जमा हुए पैसे 

जानकारी के अनुसार, सिविल लाइन थाना क्षेत्र के व्यापार विहार के एक्सिस बैंक में यह गड़बड़ी हुआ है। जहां छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कॉरपोरेशन का खाता है। शराब बिक्री की रकम को टफ सिक्योरिटी के कर्मचारी दुकानों से लाकर छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग के खाते में जमा कराते हैं। कंपनी के ऑडिट में पता चला है कि, बैंक खाते में एक करोड़ 27 लाख रुपए कम हैं। इसकी जमा पर्चियां कंपनी के पास मौजूद है, लेकिन ये पैसे खाते में जमा नहीं हुए हैं।

कंपनी के अधिकारियों को इसकी जानकारी मिली तब उन्होंने इसकी शिकायत बैंक प्रबंधक से की। जिसके बाद जाँच में यह बात सामने आई कि, बैंक कैशियर राकेश प्रसाद ने जमा पर्ची जारी की है, लेकिन वह पैसे खाते में जमा नहीं हुए हैं। टफ सिक्योरिटी के कर्मचारियों से बिना रकम लिए ही पर्चियां जारी की गई हैं। इसके एवज में कैशियर को कमीशन मिला है।

बैंक कैशियर गिरफ्तार 

गड़बड़ी सामने आने के बाद बैंक प्रबंधक दुर्जती मुखर्जी ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में दर्ज कराई है। जिस पर पुलिस ने बैंक कैशियर सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ धारा 120 बी, 420, 467 और 468 के तहत मामला दर्ज कर आरोपी बैंक कैशियर राकेश प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मामले में शामिल टफ सिक्योरिटी कंपनी के अन्य आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है.