रायपुर। Chhattisgarhi Olympics 2023 : राजधानी रायपुर में तीन दिनों से चल रहे राज्य स्तरीय छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक खेलों का आज रंगा-रंग समापन बलवीर सिंह जुनेजा स्टेडियम में हुआ। समापन समारोह में खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल, नगर निगम रायपुर के महापौर एजाज ढेबर, राज्य युवा आयोग के अध्यक्ष जितेन्द्र मुदलियार और ग्रैंड ग्रुप के चेयरमैन गुरुचरण सिंह होरा मौजूद रहे।

 

 

ALSO READ : Chhattisgarhi Olympics : पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने हर साल होगा छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन: CM भूपेश बघेल

 

छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक के समापन समारोह में खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर हमारे ग्रामीण इलाकों में प्रचलित खेल जो लुप्त हो रहे थे, उनको प्र्रोत्साहन एवं बढ़ावा देने के लिए राज्य में पहली बार छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरूआत की गई है। छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के सफल आयोजन के लिए उन्होंने सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि इससे राज्य में खेल के प्रति एक सकारात्मक वातावरण बना है।

 

 

ALSO READ : Chhattisgarhi Olympics : पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने हर साल होगा छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन: CM भूपेश बघेल

 

ग्रैंड ग्रुप के चेयरमैन गुरुचरण सिंह होरा ने सीएम बघेल के नेतृत्व में कराये जा रहे छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की सराहना करते हुए कह कि – छत्तीसगढ़िया ओलंपिक से प्रदेश में खेलमय वातावरण बना है, यह सफल आयोजन खेल मंत्री उमेश पटेल और अपर मुख्य सचिव रेणु पिल्ले समेत कई लोगों की मेहनत से ही सफल हो पाया है। वहीँ इस पुरे आयोजन का श्रेय प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल को ही जाता है, सीएम बघेल का खेलों के प्रति लगाओ ही है जो छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों के पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए राज्य स्तरीय स्पर्धा कराकर खिलाड़ियों को अवसर प्रदान किया जा रहा है। अक्टूबर से लेकर अब तक इस आयोजन में ग्रामीण क्षेत्रों के 25 लाख से ज्यादा लोगों की भागीदारी रही, जिनमे से 1,010 विजेताओं को सम्मानित किया गया। जिन्हे वे शुभकामनाएँ देते है।

 

 

ALSO READ : Chhattisgarhi Olympics : राज्य स्तरीय छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन 7 से 9 जनवरी तक, उद्घाटन और  समापन समारोह में होंगे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम 

 

श्री होरा ने आगे कहा – वर्तमान में प्रदेश में खेल लगातार विकसित हो रहे हैं। वहीँ इस राज्य स्तरीय मुकाबले में हिस्सा लेने के लिए प्रदेश के कोने-कोने से खिलाड़ी आए हुए थे। जिनमे बच्चे बूढ़े जवान महिलाएं सभी ने इन मुकाबलों में जोश के साथ हिस्सा लिया। प्रदेश के लोगों के बीच बढ़ती खेलों की लोकप्रियता अवश्य ही एक दिन छत्तीसगढ़ को खेल के क्षेत्र में उच्च स्थान पर लाकर खड़ा करेगा।

 

 

बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य स्तरीय छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का शुभारंभ 8 जनवरी को किया था। इस मौके पर उन्होंने कहा था कि छत्तीसगढ़िया खेलों को संरक्षित करने और आगे बढ़ाने के लिए छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरुआत की गई है। छत्तीसगढ़िया ओलंपिक को लेकर पूरे प्रदेश में लोगों में अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिला। बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्गों, महिलाओं और युवाओं में इन खेलों में पूरे उत्साह के साथ हिस्सा लिया। गांव-गांव में खेलों के प्रति सकारात्मक वातावरण तैयार हुआ है। महिलाओं ने भी इसमें बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन हर वर्ष सितम्बर-अक्टूबर माह किए जाने की घोषणा भी मुख्यमंत्री ने इस दौरान की थी।