WHO ने उज्बेकिस्तान में कफ सिरप पीने से हुई 19 बच्चों की मौत मामले में अलर्ट जारी किया है।

Read more : COVID-19 XBB.1.5 : ओमिक्रॉन के नए वेरिएंट को लेकर WHO की एडवायजरी, इन देशों की यात्रा कर रहे लोग जरूर पहनें मास्क

WHO ने कहा कि भारत के मैरियन बायोटेक द्वारा बनाए गए दो खांसी के सिरप बच्चों को नहीं पिलाया जाना चाहिए। सिरप के नाम एम्बरोनॉल सिरप और डीओके-1 मैक्स( max) हैं।

सरकार के आरोपों की जांच का फैसला

भारत ने भी उज्बेक सरकार के आरोपों की जांच का फैसला लिया था। यूपी फूड सेफ्टी एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट ने बायोटेक कंपनी का प्रोडक्शन लाइसेंस सस्पेंड (suspend) दिया है।

WHO के मुताबिक ethylene glycol कार्बन कंपाउंड

WHO के मुताबिक WHO के मुताबिक ethylene glycol कार्बन कंपाउंड है। इसमें न खुश्बू होती है और न ही कलर। ये मीठा होता है। बच्चों के सिरप में सिर्फ इसलिए मिलाया जाता है ताकि वो आसानी से पी सकें। इसकी मात्रा के असंतुलन से ये जानलेवा हो सकते हैं।