रायगढ़। CG NEWS : शादी के चार साल बाद दहेज में कार नही देने पर विवाहिता और उसके खुद के दो वर्ष की मासूम बच्ची को घर से निकालने का एक मामला सामने आया है, जिसके बाद विवाहिता और उसके पिता थाने और स्थानीय मीडिया के जरिए न्याय की गुहार लगा रहे है।

 

दरअसल यह पूरा मामला धरमजयगढ़ थाना क्षेत्र से लगे ग्राम लामबहरी का है, जिसमे निशा यादव पिता शिव यादव की शादी 2018 में पूरे रीति रिवाजों के साथ घनश्याम यादव सीतापुर तहसील के ग्राम जजगा से हुई थी, दोनो का दाम्पत्य जीवन कुछ समय के लिए ठीक-ठाक भी चला, उसके बाद विविहिता को उसके पति के द्वारा दहेज में कार नहीं लाने की बात को लेकर खटपट शुरू हुई। जो धीरे धीरे मारपीट तक पहुंच गई, इसके बाद विवाहिता ने अपने मायके में यह बात बताई तो आर्थिक स्थिति मजबूत नहीं होने के कारण मायका पक्ष कार नही दे सका। ऐसे में विवाहिता के पति ने उसे दो वर्ष की मासूम बच्चे के साथ घर से निकाल दिया है।जिसके बाद घटना की लिखित शिकायत सीतापुर,धरमजयगढ़ थाने सहित रायगढ़ पुलिस अधीक्षक और जिला कलेक्टर से की गई है, वहीं न्याय नहीं मिलता देख विवाहिता ने अब मीडिया का सहारा लिया है ताकि दहेजरूपी दानव से वह डटकर मुकाबला कर सके।