ग्रैंड न्यूज़ डेस्क। Vaastu Shaastra : घर के प्रवेश द्वार को लेकर कुछ टोटके भी हैं जिसको अपनाने से घर बुरी नज़रों से बचती है और देवी लक्ष्मी (Devi Lakshmi) का भी आगमन होता है। वास्तु शास्त्र में दिशाओं का विशेष महत्व बताया गया है. हमारे पुराण में भी इसका जिक्र मिलता है। श्री गणेश का प्रतीक चिन्ह धार के दरवाजे पर होना चाहिए। इसलिए लोग जब भी घर बनवाते हैं तो मुख्य द्वार की दिशा का खास ख्याल रखते हैं क्योंकि इस पर ही परिवार की तरक्की निर्भर होती है. वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार उत्तर-पूर्व, उत्तर, पूर्व या पश्चिम में होनी चाहिए. इससे घर की सुख शांति बनी रहती है. वहीं, घर के प्रवेश द्वार को लेकर कुछ टोटके भी हैं जिनको अपनाने से घर पर किसी की बुरी नजर (negative energy) नहीं लगती है और देवी लक्ष्मी (Devi Lakshmi) का भी आगमन होता है. तो आज इस लेख में हम आपको कुछ वास्तु (Vastu shastra) उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आपको भी एक बार जरूर आजमाना चाहिए.

घर के मुख्य द्वार पर क्या लगाएं

प्रतिमा की प्रतिमा ( Ganesha pratima )

घर के मुख्य द्वार पर अगर आप विघ्नहर्ता की प्रतिमा को लगाते हैं तो इससे घर में सुख समृद्धि बनी रहेगी. इससे घर परिवार में लड़ाई-झगड़े और कामकाज में किसी तरह की अड़चन नहीं आएगी।

तोरण

तोरण लगाना भी प्रवेश द्वार पर अच्छा माना जाता है. आम और पीपल के पत्तों से बना तोरण शुभ होता है. इससे नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और घर में खुशहाली बनी रहती है. लक्ष्मी जी के चरण लगाना मुख्य द्वार पर भी बहुत अच्छा होता है.

नींबू और मिर्ची

नींबू मिर्ची को मुख्य द्वार पर अगर टांग देती हैं तो घर बुरी शक्तियों से हमेशा दूर रहेगा. इसे आप शनिवार के दिन काले धागे में पिरोकर दरवाजे पर लटका सकती हैं।