गरियाबंद- उनतीस दिन चले पवित्र रमजान के बाद आखिर कर जुम्मे के दिन शुक्रवार की शाम चांद का दीदार हो गया। इसके बाद अब शनिवार को जिला मुख्यालय समेत ग्रामीण क्षेत्रों में ईद उल-फितर का त्योहार मनाया जाएगा। ईद का चांद दिखते ही लोगों ने एक दूसरे को ईद की बधाई देनी शुरू कर दी। बच्चे, बूढ़े व नौजवान इसको लेकर खासे उत्साहित दिखे।

जमात के कार्यकारी सदस्य सोहेल मेमन ने ईद-उल-फितर के मौके पर जिलेवसीयो और नगरवसीयो को मुस्लिम भाई-बहनों को ईद की शुभकामनाएं (Eid Mubarak) दी है। उन्होंने कहा कि पवित्र रमजान (Ramadan) के महीने में रोजेदारों की ओर से की गई इबादतों से उनके घर-परिवार के साथ-साथ प्रदेश और देश में शान्ति और समृद्धि आए। मेरी कामना है कि समाज में अमन-चैन, भाईचारा पूरे तौर पर कायम रहे।

जामा मस्जिद के पेश इमाम ने शुक्रवार को चांद दिखने का एलान किया। इसके साथ ही ईद की घोषणा कर दी गई। वहीं ईद की नमाज को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। खरीदारी को ले बाजारों में उमड़ी रही भीड़ : ईद की खरीदारी के लिए शुक्रवार को बाजारों में लोगों की भीड़ उमड़ी रही। शाम होते ही ईद का चांद देखने की बेताबी रोजेदारों में देखने को मिली। महिला-पुरुष, युवा व नन्हे रोजेदार घर की छतों से लेकर खुले मैदान तक ईद का चांद देखने के लिए जुटने लगे। ईद के चांद का दीदार होते ही रोजेदार एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद देने लगे। यहां पढ़ी जाएगी ईद की नमाज :गरियाबंद जामा मस्जिद के पेश इमाम मौलना मोहम्मद फैय्याज रजा ने बताया कि सुबह 9:00 बजे ईदगाह में ईद उल फ़ितर की नमाज़ अदा की जाएगी