पॉपुलर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर से कल रात के बाद से ही कई अकाउंट से ब्लू टिक गायब हो गए हैं। हालांकि, यूजर्स के लिए यह चौंकने वाला मामला नहीं है, क्योंकि ट्विटर से ब्लू टिक हटने की बातें पहले से सुर्खियों में थी। कंपनी ने यूजर्स के लिए 20 अप्रैल को एक पोस्ट शेयर किया था।

इस पोस्ट में बताया गया था कि कुछ ही घंटों में ट्विटर से अनवेरिफाइड अकाउंट से ब्लू टिक हटा लिया जाएगा। रातों-रात में कई मशहूर लोगों के अकाउंट से ब्लू टिक गायब भी हो गया।

ब्लू टिक के लिए लेना होगा पेड सब्सक्रिप्शन

भारत में ट्विटर अपनी पेड सर्विस की सुविधा शुरू कर चुका है। वहीं यूजर्स से ब्लू टिक बनाए रखने का केवल एक ही रास्ता बताया जा रहा है। यह रास्ता ट्विटर ब्लू यानी पेड सब्सक्रिप्शन का ही है।

हालांकि, ट्विटर पर ब्लू टिक के लिए केवल पेड सब्सक्रिप्शन ही जरूरी नहीं है। अगर ट्विटर यूजर कंपनी की कुछ टर्म्स और कंडीशन को फॉलो नहीं करता है तो भी मामला ठंडे बस्ते में पड़ सकता है।

Blue checkmark के Eligibility criteria के लिए जरूरी ये बातें

ब्लू चेकमार्क के लिए ट्विटर यूजर के अकाउंट की स्थिति मायने रखेगी। इसका मतलब हुआ कि यूजर के अकाउंट पर यूजर का नाम ही नहीं, बल्कि यूजर की प्रोफाइल इमेज भी लगी होना जरूरी है।

बहुत से यूजर ट्विटर पर नाम भर के लिए ट्विटर अकाउंट बना लेते हैं। इन यूजर्स का अकाउंट तो बना होता है, लेकिन पोस्ट शेयर नहीं करते। इतना ही नहीं, यूजर दूसरे यूजर्स की पोस्ट को भी देखने और कमेंट करने में दिलचस्पी नहीं रखता। इन यूजर्स को एक्टिव यूजर नहीं माना जाता है.

इसके अलावा, नए अकाउंट यूजर्स ट्विटर पर पे करने के बाद भी ट्विटर ब्लू चेकमार्क नहीं ले सकेंगे। ब्लू चेकमार्क के लिए जरूरी होगा कि यूजर कम से कम 30 दिन पुराना हो। इसके साथ ही यूजर के फोन नंबर की डिटेल्स वेरिफाई होना भी जरूरी माना गया है।