रायपुर। Mati Pujan Day : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अक्ती तिहार एवं माटी पूजन दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए. सीएम ने गांव की माटी, देवी-देवताओं और ठाकुर देव की पूजा की. मुख्यमंत्री ने बीज बुवाई संस्कार के तहत लौकी, सेम, तोरई के बीज बोये। मुख्यमंत्री बघेल ने गौ माता को चारा खिलाया। बघेल ने धान की कोठी से बीज लाकर पूजा की. मुख्यमंत्री ने अच्छी फसल के लिए धरती माता से कामना की। यह पूजा छत्तीसगढ़ के किसानों (Farmers) के लिए काफी अहम मानी जाती है क्योंकि आज से खरीफ फसल को तैयारी में छत्तीसगढ़ के किसान जुट जाते है.

बता दें कि रायपुर के कृषि विश्वविद्यालय परिसर में माटी पूजन दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में सीएम भूपेश बघेल ने राज्यवासियों के धन धान्य से भरे रहने की कामना की. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्रैक्टर चलाकर खेत की जुताई की।

क्या है माटी पूजा की परंपरा

अक्षय तृतीया के दिन रायपुर के इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के परिसर स्थित खेत में प्रदेश भर के किसान है. इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ठाकुर देवता की पूजा-अर्चना कर खेती-किसानी के नए कामों की शुरुआत की. प्राचीन परंपरा के अनुसार मुख्यमंत्री ने सबसे पहले कोठी से अन्न लेकर ठाकुर देव को अर्पित किया. यहां परम्परागत तौर पर उन्होंने अन्न के दोने को बैगा को सौंपा।