प्राथमिक शाला किसान पारा गरियाबंद में ब्लॉक स्तरीय समर कैंप का शुभारंभ किया गया यह समर कैंप गरियाबंद के सभी सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले कक्षा 1 से 8 तक के, 6 से 14 वर्ष के सभी बच्चों के लिए 1 माह तक चलाया जाएगा, यह समर कैंप पूर्णता निशुल्क है तथा इसमें बच्चों के लिए जुंबा डांस, नृत्य, ड्राइंग पेंटिंग हिंदी अंग्रेजी विषय में लेखन पठन कौशल विकास,आर्ट एवं पेपर क्राफ्ट, मेहंदी का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस परीक्षण के लिए समस्त सामग्री एवं आयोजन की पूर्ण व्यवस्था विकासखंड स्रोत कार्यालय के द्वारा की गयी । आज के समर कैंप के उद्घाटन समारोह में हमारे जिले से जिला शिक्षा अधिकारी  डीएस चौहान. जिला मिशन समन्वयक  श्याम कुमार चंद्राकर, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी  आर पी दास विकासखंड स्रोत समन्वयक  तेजेश शर्मा ,श्रीमती अमीता मेंढी,  लोकेश सोनवानी,  सदानंद सर्वांकर एवं अन्य संकुल समन्वयक उपस्थित थे। चंद्राकर सर ने अपने संबोधन में कहा कि सभी बच्चों में अपने अपने स्तर पर उनकी अपनी कलाएं होती हैं जिसे आप सबको उन कलाओं को विकसित करके उन्हें पूर्ण दक्ष बनाना है,  तेजस शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चलाई गई योजना छलांग जिसमें समुदाय के सहयोग से विभिन्न योजनाओ को लागू किया जाना है तथा बच्चों तक एफ एल एन की समस्त योग्यताओं को पहुंचाया जाना है इसके लिए भी समर कैंप में समुदाय को सहभागी बनाया जाए, इस समर कैंप को अगले 1 माह तक सुचारू रूप से चलाने की जिम्मेदारी श्रीमती इंदरप्रीत कौर कुकरेजा, नीता सर्वा,प्रतिभा साकरिया,ईश्वरी सिन्हा, किरण ध्रुव, ता नेश्वरी ठाकुर, सत रूपा बिप्रे, ईश्वरी कश्यप, श्रद्धा साहू, आरती सोनवानी, शिवकुमार साहू को दी गयी। बड़े ही हर्ष का विषय है कि पहले दिन ही 55 बच्चों का पंजीयन हो गया ।यह समर कैंप प्राथमिक शाला किसान पारा गरियाबंद में 12 मई से 12 जून तक प्रतिदिन सुबह 9 बजे से 11 बजे तक चलाया जायेगा। अतः सभी से निवेदन है कि 6 से 14 वर्ष के सभी बच्चों का इस समर कैंप में दाखिला कराएं सरकार की बच्चों के लिए चलाई गई विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाएं।