रायपुर। International Nurses Day 2023 : किसी भी बिमारी में हमें डॉक्टर की याद सबसे पहले आती है. स्वास्थ्य सेवा उद्योग में डॉक्टर की भूमिका जितनी महत्वपूर्ण होती है, उससे कम नर्स की नहीं होती. नर्सों के मूल्य को कभी भी इतना महत्व नहीं दिया गया है जितना कि अब दिया जाता है. नर्सिंग (Nursing) को सबसे निस्वार्थ पेशों में से एक के रूप में जाना जाता है, हर मरीज के इलाज में नर्स की निस्वार्थ सेवा भाव और समर्पण काबिले तारीफ होता है. उनकी इस निस्वार्थ सेवा का सम्मान करने के लिए 12 मई को अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस (International Nurses Day) मनाया जाता है.

मरीजों के प्रति नर्सों की निस्वार्थ सेवा, साहस और उनके सराहनीय कार्यों के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए दुनिया भर में 12 मई को अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस (International Nurses Day) मनाया जाता है. इस दिन दुनिया में नर्सिंग की संस्थापक कही जाने वाली फ्लोरेंस नाइटिंगेल (Florence Nightingale) को श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है और उनके योगदान को याद किया जाता है. दरअसल, 12 मई 1820 को आधुनिक नर्सिंग की संस्थापक कही जाने वाली फ्लोरेंस नाइटिंगेल का जन्म हुआ था, इसलिए नर्सिंग क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए उनके जन्मदिन पर ही अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस मनाने की घोषणा की गई.

अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस को 1965 से ही इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ नर्सेज द्वारा मनाया जा रहा है, लेकिन 1974 से इस उत्सव को बडे पैमाने पर मनाया जाने लगा. इस दिन नर्सों के योगदान के बारे में लोगों को बताया जाता है, साथ ही नर्सिंग में अपना करियर बनाने की चाह रखने वालों को प्रेरित किया जाता है. ऐसे में इस अवसर पर आप नर्सेस से जुड़े इन प्रेरणादायी विचारों को शेयर करके नर्सेस के प्रति अपना सम्मान जाहिर कर सकते हैं।