Wrestlers Protest Parliament : दिल्ली के जंतर-मंतर से नई संसद के सामने महापंचायत करने जा रहे पहलवानों को पुलिस ने रविवार (28 मई) को हिरासत में ले लिया. इसके बाद पहलवानों और पुलिस के बीच तीखी नोकझोक हुई. पहलवानों को हिरासत में लिए जाने के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया है।

 

प्रियंका गांधी ने एक ट्वीट करके खिलाड़ियों को ‘देश का मान’ बताया. उन्होंने कहा, “खिलाड़ियों की छाती पर लगे मेडल हमारे देश की शान होते हैं. उन मेडलों से, खिलाड़ियों की मेहनत से देश का मान बढ़ता है. बीजेपी सरकार का अहंकार इतना बढ़ गया है कि सरकार हमारी महिला खिलाड़ियों की आवाजों को निर्ममता के साथ बूटों तले रौंद रही है।

 

‘पूरा देश सरकार के अहंकार को देख रहा है’

कांग्रेस महासचिव ने आगे लिखा है कि “ये एकदम गलत है. पूरा देश सरकार के अहंकार और इस अन्याय को देख रहा है.” बता दें कि रविवार को पहलवानों ने जंतर-मंतर से पुलिस बैरिकेड को पार करके आगे बढ़ने की कोशिश की, जिसके बाद कई पहलवानों को हिरासत में ले लिया गया. इसके बाद पहलवान बजरंग पूनिया ने कहा कि हमें गोली मार दो.

 

 

 

महिला सम्मान महापंचायत का आह्वान 

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के विरोध में पहलवानों ने रविवार (28 मई) को दिल्ली में ‘महिला सम्मान महापंचायत’ का आह्वान किया था. पुलिस की ओर से रोके जाने के बाद पहलवान केरल हाउस के पास धरने पर बैठ गए, जहां से संसद कुछ ही दूरी पर है.

दरअसल, पहलवानों ने महिला महापंचायत का आयोजन जिस दिन करने की घोषणा की, उसी दिन (28 मई) नए संसद भवन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया. पहलवानों की महापंचायत और देशभर से सांसद और अन्य गणमान्य लोगों के दिल्ली आने की वजह से दिल्ली पुलिस ने काफी कड़ी सुरक्षा की हुई है.