सरकार ने अभी तक जनगणना के नए कार्यक्रम की घोषणा नहीं की है। 2024 के लोकसभा चुनाव अप्रैल-मई में होने हैं। उससे पहले कर्मचारियों को वोटर लिस्ट( voter list) अपडेट करनी है।

Read more : तो इसबार इस तरह होगी जनगणना, 31 दिसंबर तय की गई फ्रीजिंग की तिथि

अधिकारियों ने कहा कि जनवरी( january) 2023 में भारत के महापंजीयक और जनगणना आयुक्त ने प्रशासनिक सीमाओं को स्थिर करने की तारीख, नए जिलों या उप-जिलों को बनाने की लास्ट डेट 30 जून तक बढ़ा दी है।

इस बार ये सवाल पूछे जाएंगे( question) 

रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त के कार्यालय के अनुसार इस बार की जनगणना में 31 सवाल पूछे जाएंगे। इन सवालों में पूछा जाएगा- परिवार के पास टेलीफोन लाइन है या नहीं, इंटरनेट कनेक्शन है या नहीं, मोबाइल या स्मार्टफोन है या नहीं, वाहन कौन सा है- साइकिल, स्कूटर, बाइक, मोपेड, कार, जीप या वैन।

क्या परिवार की मुखिया महिला

साथ ही मकान के फर्श, दीवार और छत की प्रमुख सामग्री, उसकी स्थिति, घर में रहने वालों की कुल संख्या के अलावा यह भी पूछा जाएगा कि क्या परिवार की मुखिया महिला है, मुखिया अनुसूचित जाति का है या नहीं, इसके बारे में भी पूछा जाएगा। घर में कितने कमरे हैं और वहां रहने वाले मैरिड कपल की संख्या के बारे में भी सवाल होंगे।

पुलिस स्टेशन की सीमाओं को फ्रीज

नियमों के अनुसार जनगणना जिला, तहसील, ​​​​ब्लाक और पुलिस स्टेशन की सीमाओं को फ्रीज करने के तीन महीने ( यानी 30 सितंबर के बाद) बाद ही हो सकती है। देश के उन 30 लाख सरकारी कर्मचारियों/शिक्षकों को ट्रेनिंग देने में भी 2-3 महीने लगेंगे, जो जनगणना करने घर-घर जाते हैं।इस बीच चुनाव आयोग भी अगले आम चुनावों के लिए मतदाता सूचियों की जांच का काम शुरू कर देगा।