पेंड्रा। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री स्वर्गीय अजीत जोगी की आज तृतीय पुण्यतिथि है। उनके गृहनगर पैतृक निवास और मरवाही क्षेत्र में भले ही उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं की संख्या बेहद कम हो गयी हो पर उनसे जुड़े लोग आज भी अजीत जोगी और उनके योगदान को याद करते हैं। ज्ञात हो कि गौरेला के जोगीसार में 29 अप्रैल 1946 को जन्मे स्वर्गीय अजीत जोगी ने आईएएस , आईपीएस के अलावा छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री का गौरव हासिल किया। इस तरह मरवाही विधानसभा क्षेत्र का नाम भारत की राजनीति इतिहास में पहले पन्ने पर ली जाती है।

साल 29 मई को रायपुर में उन्होने इलाज के दौरान आखिरी सांसे लीं। आज जोगी समर्थकों की आंखे स्वर्गीय अजीत जोगी को याद करते हुये नम हो जाती हैं। आज उनकी पत्नि और कोटा विधायक रेणु जोगी के स्वास्थ्य खराब होने के कारण दिल्ली अस्पताल में इलाज करवा रही है और पुत्र अमित जोगी भी वहीं है। स्वर्गीय जोगी के समाधि स्थल में तेजी से निर्माण कार्य चल रहा है जहां उनके चहेते और कार्यकर्ताओं के द्वारा समाधि स्थल में स्वर्गीय अजीत जोगी को श्रद्धांजली दी गयी।